India

कॉलेज में छात्रा से छेड़खानी, विरोध पर छात्र ने मारा थप्पड़

nn
loading...
बैतूल। जेएच कॉलेज में सुरक्षा की पोल उस वक्त खुल गयी, जब सभी के सामने एक छात्र ने छात्रा से छेड़खानी की, थप्पड़ भी मारा। पर किसी ने बीच बचाव करने की कोशिश नहीं की। शिक्षक से लेकर छात्र तक सभी मूकदर्शक बने रहे। विरोध करने पर छात्र ने छात्रा की गला दबाकर हत्या करने की कोशिश भी की।

इतना सब कुछ होने के बाद जब सीसीटीवी फुटेज की बारी आई, तो पता चला कि डीवीआर ही बंद पड़ा है। इससे समझ में आता है कि जिले का सबसे बड़ा महाविद्यालय जिसमें 5000 विद्यार्थी पढ़ते हैं, उनकी सुरक्षा के क्या इंतजाम हैं।

himachalikhabar
जेएच कॉलेज में बीएससी कर रही एक छात्रा क्लास के बाद बाहर निकल रही थी, इस दौरान सामने खड़े बीकॉम के छात्र ने छात्रा के साथ छेड़छाड़ की। जिसके बाद छात्रा ने छात्र को जोरदार थप्पड़ जड़ दिया। जिससे बौखलाए छात्र ने उसे पीटना शुरू कर दिया। उसका गला भी दबा दिया।


छात्रा और छात्र की कॉलेज में ही काफी देर तक बहस होते रही, लेकिन किसी प्राध्यापक और छात्र ने बीच-बचाव नहीं किया। छात्र कॉलेज में ही गाली-गलौच करने लगा। रिपोर्ट करने पर जान से मारने की धमकी दिया। तब जाकर कुछ छात्राओं ने साहस दिखाते हुए साथी छात्रों और अतिथि विद्वानों को पूरी घटना बताई। तब कॉलेज में निर्भया वाहन और डायल 100 भी पहुंच गई थी।

छात्रा पुलिस के साथ थाने पहुंची। जहां पर छात्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। छात्रा की रिपोर्ट पर छात्र के खिलाफ छेड़छाड़ और मारपीट का केस दर्ज किया गया है। छात्रा ने बताया कि छात्र उसे पिछले दो वर्ष से परेशान कर रहा था। डर के कारण पहले रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई। गंज थाने में रिपोर्ट के दौरान भी छात्रा डरी सहमी हुई थी। साथी छात्राओं ने उसकी हिम्मत बढ़ाई।

आरोपी छात्र को कॉलेज ने दिखाया बाहर का रास्ता

पीड़िता की शिकायत पर जेएच कॉलेज प्राचार्य डॉक्टर राकेश तिवारी ने छात्र को कॉलेज से निष्कासित कर दिया है। अब उसके कॉलेज में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। कॉलेज प्रशासन द्वारा आरोपी छात्र को अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया भी गया है, लेकिन उसका मोबाइल बंद रहा। छात्रा के साथ मारपीट और छेड़छाड़ का वीडियो वायरल भी हो गया है। कॉलेज के ही एक छात्र ने इस वीडियो को बनाया है। वीडियो में आरोपी छात्रा को गाली-गलौच करते नजर आ रहा है।

एक वर्ष पहले भी छात्र पर तानी थी पिस्टल

जेएच कॉलेज में एक वर्ष पहले भी एक बाहरी व्यक्ति द्वारा कॉलेज परिसर में पहुंचकर कॉलेज की छात्रा के साथ में छेड़छाड़ और पिस्टल निकालकर जान से मारने की धमकी दी गयी थी। जिसके बाद कॉलेज प्रशासन द्वारा पिस्टल लहराने वाले युवक के खिलाफ कोई कारवाई नहीं की गई थी। कॉलेज में वारदात करने वालों पर कार्रवाई नहीं होने से घटनाएं बढ़ रही हैं।

एक माह पूर्व प्राचार्य पर हुआ था हमला

एक माह पूर्व ही कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर राकेश तिवारी के साथ में कॉलेज परिसर में ही कॉलेज के पूर्व छात्र ने मारपीट की थी। इसकी रिपोर्ट भी थाने में दर्ज कराई गई थी। इसके बावजूद कॉलेज में सुरक्षा को लेकर कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए हैं। कॉलेज की सुरक्षा की जिम्मेदारी तीन वृद्ध गार्ड के भरोसे है। गार्ड अवारा तत्वों को कॉलेज में घुसने से नहीं रोक पाते हैं। इनका कॉलेज में आना-जाना बे-रोकटोक जारी रहता है, जिसका नतीजा है कि अपराधिक घटनाएं हो रही हैं।

शो-पीस बने सीसीटीवी

कॉलेज में सुरक्षा के लिए लाखों रुपए खर्च कर 36 स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। लेकिन सभी शो-पीस बनकर रह गए हैं। इन कैमरों से न तो रिकॉर्डिंग हो रही है और न ही कॉलेज प्रशासन द्वारा मरम्मत कराई जा रही है। शुक्रवार को जिस जगह पर घटना हुई, वहां भी सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। फुटेज निकालने की बारी आई, तो पता चला कि डीवीआर में रिकॉर्डिंग एक दिन पहले से ही नहीं हो रही है।

loading...

Leave a Reply