Chamba

गुज्जरों पर बरपा कुदरत का कहर, बादल फटने से 15 मवेशी बहे

nn
loading...

चम्बा: जिला के चुराह उपमंडल में बुधवार की रात को बादल फटने से उसकी चपेट में आकर 15 भैंसों की मौत हो गई। इस घटना से प्रभावित हुए पशुपालकों ने तुरंत आर्थिक मदद जारी करने की मांग की है। जानकारी के अनुसार बुधवार की रात को उपमंडल की ग्राम पंचायत टेपा के शकराणी नामक स्थान पर गुज्जर समुदाय के लोग अपने मवेशियों के साथ आराम कर रहे थे। इस दौरान मौसम खराब होने के साथ ही तेज बारिश का दौर शुरू हुआ। इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता अचानक शकराणी के ऊपरी हिस्से में बादल फट गया, जिस वजह से भारी मात्रा में मलबा बाढ़ के साथ बहकर आया। मौके पर मौजूद गुज्जर किसी तरह से वहां से भागकर अपनी जान बचाने में तो कामयाब हो गए लेकिन उनकी 15 भैंसें इस बाढ़ की चपेट में आकर बह गईं।

मवेशी लेकर जा रहे थे एथन व पटाल धार
पुख्ता जानकारी के अनुसार घुमंतू गुज्जर पंजाब से अपने मवेशियों को लेकर एथन व पटाल धार जा रहे थे। बुधवार की शाम को उन्होंने रास्ते में ही रुककर आराम करने का निर्णय लिया लेकिन उनका यह निर्णय उनके लिए काफी नुक्सानदायक साबित हुआ। राहत की बात यह रही है कि वे अपनी जान बचाने में कामयाब रहे। उन्होंने वीरवार सुबह इस घटना के बारे में स्थानीय पंचायत प्रधान को सूचित किया, जिन्होंने मौके पर जाकर स्थिति का जायजा लिया।

क्या कहती हैं पंचायत प्रधान
टेपा पंचायत प्रधान लता देवी व पूर्व प्रधान ध्यान सिंह ने बताया कि गुज्जरों के अनुसार उनकी 15 भैंसें बादल फटने से आई बाढ़ की भेंट चढ़ गईं। कुछ भैंसें मौके पर मरी हुईं पाईं गईं जबकि कुछ बाढ़ के साथ बह गई हैं। उन्होंने कहा कि चूंकि प्रभावित परिवारों का मुख्य व्यवसाय दूध बिक्री करना है, ऐसे में इन प्रभावितों को सरकार की ओर से फौरी राहत जारी करने का प्रशासन से आग्रह किया जाएगा।

क्या कहते हैं अधिकारी
वहीं तहसीलदार चुराह सरताज सिंह ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है, जिसके चलते संबंधित क्षेत्र के पटवारी को मौका करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। मौका रिपोर्ट आने के बाद प्रभावितों को हरसंभव सहायता मुहैया करवाई जाएगी।

from Blogger https://ift.tt/2Kiilbt

Leave a Reply