HimachalShimla

जयराम सरकार देगी 60 हजार विद्यार्थियों को स्टील की बोतलें

jairam
nn
loading...

जयराम सरकार देगी 60 हजार विद्यार्थियों को स्टील की बोतलें: जयराम सरकार आगामी शैक्षणिक सत्र में 50 से 60,000 स्कूली बच्चों को स्टील की बोतलें नि:शुल्क देने की योजना बना रही है। सरकारी स्कूलों के बच्चों को चरणबद्ध तरीके से बजट की उपलब्धता के हिसाब से बोतलें दी जाएंगी। इसके पीछे सरकार की मंशा प्लास्टिक के इस्तेमाल को कम करना है क्योंकि स्कूली बच्चे पानी के लिए प्लास्टिक की बोतलें प्रयोग में लाते हैं। राज्य पर्यावरण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग ने शिक्षा विभाग से पूछा है कि सरकारी स्कूलों में कुल कितने विद्यार्थी पढ़ाई करते हैं। इनमें से पहले कौन सी कक्षा के बच्चों को स्टील की बोतलें दी जा सकती हैं तथा इन पर कितना खर्च आएगा।

विभाग को यह सब वर्कआऊट करने को कहा गया है। प्लास्टिक के कारण पर्यावरण पर पडऩे वाले दुष्प्रभाव को देखते हुए राज्य सरकार प्लास्टिक के प्रयोग को कम करना चाह रही है। राज्य सरकार जल्द प्रदेश में प्लास्टिक की बोतलों समेत इससे बनने वाले अन्य सामान का इस्तेमाल कम करने के लिए जागरूकता अभियान चलाएगी। प्रदेश में इससे पहले 1 जनवरी 1999 को रंगीन पॉलीथीन और 14 जून, 2004 को 70 माइक्रोन से कम मोटाई वाले पॉलीथीन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। अब सरकार ने थर्मोकोल के प्रयोग पर भी रोक लगाने का ऐलान कर दिया है। इसे लेकर सरकार कभी भी अधिसूचना जारी कर सकती है।

>

थर्मोकोल का स्टॉक खत्म करने को मिलेगा 6 माह का समय

थर्मोकोल से बने गिलासों और पत्तलों पर जिस दिन प्रतिबंध की अधिसूचना जारी की जाएगी, उस दिन से आगामी 6 माह के लिए दुकानदारों को इसका स्टॉक खत्म करने का अवसर दिया जाएगा। सभी दुकानदारों को 6 माह के भीतर थर्मोकोल से बनीं पत्तलें व गिलास खत्म करने होंगे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने 4 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर थर्मोकोल पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान कर रखा है। अब इसकी अधिसूचना जारी होने का इंतजार है।

Leave a Reply