HimachalPoliticsShimla

जयराम सरकार ने वीरभद्र का ये फैसला भी बदला

nn
loading...

शिमला। पूर्व वीरभद्र सरकार में हिमाचल प्रदेश राज्य कर्मचारी चयन आयोग हमीरपुर के अध्यक्ष पद पर तैनात किए गए प्रो. मोहन झारटा को अब हटाने की तैयारी चल रही है। प्रो. मोहन झारटा हिमाचल प्रदेश विवि में प्रोफेसर पद पर तैनात थे।

बता दें कि प्रो. मोहन झारटा को जनवरी 2017 में आयोग के अध्यक्ष पद पर पांच साल के लिए तैनात किया गया था। आयोग में अध्यक्ष बनने के बाद उन्होंने विवि से त्यागपत्र नहीं दिया था, वहीं अब विश्व विद्यालय अब उन्हें दोबारा वापिस बुलाने की तैयारी में है।

हिमाचल प्रदेश विवि की सोमवार को ईसी की एमरजेंसी बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में प्रो. मोहन झारटा को वापिस विवि में बुलाए जाने पर चर्चा होगी। हालांकि उनका अभी चार साल का कार्यकाल है, लेकिन विश्वविद्यालय के कुलपति के पास उन्हें वापिस बुलाने की शक्ति है।

समाज शास्त्र विभाग में शिक्षकों की कमी को आधार बनाते हुए प्रो. मोहन झारटा से जल्द विवि में वापस ज्वाइन करने को कहा जा सकता है। प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद अब इस अहम पद पर जयराम सरकार अपने हिसाब से नियुक्ति करेगी। प्रो. झारटा विवि में समाज सास्त्र विभाग में प्रोफेसर हैं और वीरभद्र सिंह के करीबी भी माने जाते है।

Loading...
loading...

Leave a Reply