Shimla

जानिए, किसकी खुलेगी लॉटरी मिशन 2019 के लिए हमीरपुर से अनुराग ठाकुर का टिकट लगभग तय

nn
loading...
 
मौजूदा परिस्थितियों के अनुसार हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र से तो अनुराग ठाकुर का टिकट लगभग पक्का माना जा रहा है. अनुराग ठाकुर की अपने निर्वाचन क्षेत्र में सक्रियता इस बात को पुष्ट भी करती है, लेकिन बाकी सीटों पर एक से अधिक प्रत्याशी चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं. वैसे तो मंडी सीट से भी रामस्वरूप शर्मा की दावेदारी अधिक प्रभावशाली है, लेकिन यहां से और भी नाम सामने आ रहे हैं.
इसी तरह शिमला लोकसभा सीट से वीरेंद्र कश्यप का टिकट बदलना तय है. वीरेंद्र कश्यप दूसरी बार यहां से सांसद बने हैं. ऑन कैमरा रिश्वत लेने के आरोप में उन पर सोलन की अदालत में चार्जिज फ्रेम हो चुके हैं. ऐसे में उनका चुनाव लड़ना संभव नहीं है. इस सीट पर चुनाव लड़ने वालों में पच्छाद के विधायक सुरेश कश्यप, नगर निगम शिमला की मेयर कुसुम सदरेट के नाम चर्चा में चले हैं, लेकिन भाजपा टिकट के लिए पूर्व नौकरशाह एचएन कश्यप भी दावेदार हैं. कश्यप एक बार लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं. उन्हें विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिला था.
कांगड़ा सीट पर भी टिकट बदलना तय है. हालांकि शांता कुमार हां और न के बीच में झूल रहे हैं, लेकिन उम्र का क्राइटेरिया देखा जाए तो उन्हें टिकट मिलना मुश्किल है. कांगड़ा से रमेश ध्वाला और प्रवीण शर्मा का नाम चर्चा में है. यदि पार्टी की महिला प्रत्याशी की दौड़ देखें तो विधानसभा चुनाव हार चुकी इंदू गोस्वामी का नाम आगे आ सकता है. वैसे तो हमीरपुर से अनुराग ठाकुर का नाम पक्का ही है, लेकिन उनके पिता और पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल के नाम की चर्चा भी लोग कर रहे हैं. ये चर्चा फिलहाल व्यवहारिक नहीं दिखाई दे रही है, लेकिन राजनीति में ऐसी चर्चाएं चलाने के पीछे भी कई मकसद होते हैं.
मंडी जिला ने भाजपा को दस सीटों में से 9 पर विजयश्री दिलाई है. सीएम जयराम ठाकुर की पसंद भी यहां से अहम होगी. वैसे तो रामस्वरूप शर्मा खुद के नाम को लेकर आश्वस्त हैं, लेकिन पार्टी महेश्वर सिंह, अजय राणा सहित कारगिल वार हीरो ब्रिगेडियर खुशाल सिंह के नाम पर विचार कर सकती है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती का कहना है कि प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में लोकसभा चुनाव को लेकर रणनीति तैयार होगी। प्रत्याशियों को लेकर भी चर्चा संभावित है. हाईकमान के मार्गदर्शन में काम किया जाएगा.