Kangra

टांडा अस्पताल में मायका पक्ष भड़का, महिला के जलने पर संदेह प्रकट करते हुए लगाया ये आरोप

nn
loading...



टांडा अस्पताल में मायका पक्ष भड़का, महिला के जलने पर संदेह प्रकट करते हुए लगाया ये आरोप – डाक्टर राजेंद्र प्रसाद मैडीकल कॉलेज व अस्पताल टांडा में उपचाराधीन महिला की तबीयत ज्यादा खराब होनेे से मायका पक्ष से लगभग 2 दर्जन परिजन टांडा अस्पताल पहुंच गए।

उन्होंने महिला के जलने पर संदेह प्रकट करते हुए पति पर आरोप लगाया कि महिला को साजिश के तहत जलाया गया है। पुलिस के अनुसार महिला अभी बयान देने की हालत में नहीं है और उसने अपने पति के प्रताडऩा के चलते आत्मदाह का प्रयास किया है। पुलिस ने धारा 498-ए के तहत मामला दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है।

महिला के पिता देव राज निवासी गारनी (ज्वालामुखी) ने आरोप लगाया कि उसकी बेटी को उसके पति संजीव कुमार निवासी नरवाना योल द्वारा प्रताडि़त किया जाता रहा है। मायका पक्ष ने यह भी आरोप लगाया कि इसी के चलते यह हादसा हुआ है। उन्होंने आरोप लगाया कि सुमन (35) की शादी लगभग 12 साल पहले हुई थी। उन्होंने आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही सुमन का पति कथित शराब के नशे में देर से घर आकर गाली-गलौच व मारपीट करता था। सुमन के 2 बच्चे 10 व 12 साल के हैं जिनको उनकी मामी वीना देवी लेने गई ताकि वो झुलसी मां से मिल सकें, लेकिन बच्चे नहीं आए।

मायका पक्ष का आरोप है कि जब सुमन को रात्रि 1:30 बजे टांडा अस्पताल लाया गया तो उसके पति सुबह 6 बजे क्यों आया जबकि वह भी कुछ झुलसा है। इनके साथ आए राजेंद्र कुमार ने बताया कि 7 अक्तूबर को यह महिला मायके गई थी। महिला ने 10 अक्तूबर को मौखिक रूप से बताया कि उसका पति उसे जान से मार देने की धमकी देता है और उसके साथ कभी भी कुछ हादसा हो सकता है। राजेंद्र ने बताया कि मैंने उसके पति को फोन किया और उसने बताया कि मैं अभी कुछ देर में पहुंच रहा हूं। राजेंद्र कुमार ने बताया कि जब उसका पति आया तो मैंने दोनों पक्षों की बात सुनी और कहा कि वे भविष्य में प्रेम से रहें।

loading...