HimachalMandi

टीचर ने नहीं नोचे थे छात्रा के बाल, परिजनों का शिक्षा विभाग को पत्र

hair-lose
nn

टीचर ने नहीं नोचे थे छात्रा के बाल, परिजनों का शिक्षा विभाग को पत्र: मंडी जिले में शिक्षा खंड सुंदरनगर के प्राइमरी स्कूल समकल में तीसरी कक्षा की छात्रा के बाल नोचने के मामले में नया मोड आ गया है। हालांकि इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है और उसी आधार पर कार्रवाई आगे बढ़ रही है। लेकिन, इसी बीच छात्रा के अभिभावकों ने एसएमसी के माध्यम से शिक्षा विभाग को लिखित में बयान दिया है कि शिक्षिका ने छात्रा के बाल नहीं नोचे हैं।

loading...

जानकारी के मुताबिक अभिभावकों ने माना है कि उनकी बेटी के बाल झड़ रहे थे और इसकी जानकारी उन्हें पहले से भी थी और शिक्षिका के माध्यम से भी मिली थी। हालांकि लिखित बयान को सार्वजनिक नहीं किया गया है लेकिन प्रारंभिक शिक्षा उपनिदेशक केडी शर्मा ने अभिभावकों के इस बयान की पुष्टि की है।

इस मामले में जिस शिक्षिका पर आरोप लगे हैं, उसने भी मीडिया के समक्ष अपनी बात रखी है।

शिक्षिका फूला देवी का कहना है कि उनपर जो भी आरोप लगे हैं वो झूठे हैं। उन्होंने सिर्फ बच्ची को यह सलाह दी थी कि बाल झड़ने की बीमारी के बारे में अपने घर पर बताना, लेकिन इस बात को किसी दूसरे तरीके से पेश किया गया और यह सारा बवाल खड़ा हो गया।

वहीं, सुंदरनगर हॉस्पिटल में बच्ची की जो जांच करवाई गई, उसमें भी एलोपिसिया (बाल झड़ने की बीमारी) का जिक्र किया गया है। साथ ही सुंदरनगर से इस पूरे मामले पर एक्सपर्ट की एडवाइज लेने को कहा गया था। एसपी मंडी ने इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि अभी एक्सपर्ट एडवाइज ली जा रही है और उसी आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

[Total: 0    Average: 0/5]

Leave a Reply