HimachalShimla

थम जाएंगे 2800 बसों के पहिए, निजी बस ऑपरेटर्स जयराम सरकार के खिलाफ हड़ताल करने वाले हैं।

hrtc bharti result
nn

प्रदेश सरकार द्वारा मांगें नहीं माने जाने के कारण निजी बस ऑपरेटर्स जयराम सरकार के खिलाफ हड़ताल करने वाले हैं। निजी बस ऑपरेटर 21 जून को सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक हड़ताल पर रहेंगे। इस हड़ताल से करीब 2,800 निजी बसों के पहिये थमेंगे।

loading...

निजी बस ऑपरेटर्स में सरकार के ढील-ढाल वाले रवैये के खिलाफ रोष है। बस ऑपरेटर्स का कहना है कि ऑपरेटर संघ के पदाधिकारियों की परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर से दो बार मुलाकात हुई है। इसके बावजूद सरकार इनकी मांगें नहीं मान रही है। ऐसे में अब एक दिन सांकेतिक हड़ताल होगी। अगर फिर भी सरकार न चेती तो अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की रणनीति तैयार होगी।

वहीं, संघ के पदाधिकारियों को सात जून को मुख्यमंत्री कार्यालय से बातचीत के लिए बुलाया गया था, लेकिन अभी तक वो तय नहीं हो पाई। बता दें कि निजी बस ऑपरेटर्स सरकार से पिछले काफी समय से अपनी मांगे पूरी करने के लिए कह रहे हैं। निजी बस ऑपरेटर्स की सरकार से मांग है कि बसों में न्यूनतम किराया दस रुपये किया जाए।

इसके अलावा सामान्य किराये में भी 50 फीसद की बढ़ोतरी हो। ग्रीन टैक्स तत्काल वापस लिया जाए और पुरानी बसों को पांच के बजाए 10 साल में बदलें। इसके अलावा निजी बस ऑपरेटर्स डीजल पर सबसिडी मिले।

प्रदेश निजी बस ऑपरेटर संघ महासचिव रमेश कमल ने बताया कि मुख्यमंत्री कार्यालय से संदेश आया था कि संघ के कौन-कौन से पदाधिकारी सीएम से मिलना चाहते हैं। संघ ने फैक्स के जरिये पूरी सूची दे दी थी पर बातचीत के लिए नहीं बुलाया गया। अब ऑपरेट्स संघ सांकेतिक हड़ताल करेंगे।

[Total: 0    Average: 0/5]

Leave a Reply