HimachalKangra

नेपाल भागने की फ़िराक में थे पालमपुर गैंगरेप के आरोपी

फरार आरोपियों की मदद करने वाला भी पुलिस गिरफ्त में

Palampur Gangrape
nn
loading...

पालमपुर उपमंडल के अंतर्गत घटित गैंगरेप घटना के फरार तीनों आरोपियों को जिला पुलिस ने गोरखपुर से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों को पकडऩे में गोरखपुर पुलिस ने भी जिला पुलिस को सहयोग किया है। यही नहीं फरार आरोपियों की मदद करने वाले को पहले ही पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। यह बात SP जिला कांगड़ा संतोष पटियाल ने शनिवार को प्रेसवार्ता के दौरान दी। SP ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में सभी वांछित आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। Palampur Gangrape

SP के मुताबिक इस मामले में कुल 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जिनमें दो नाबालिग हैं। वहीं एक व्यक्ति को इस मामले में फरार होने वाले आरोपियों की मदद करने के चलते गिरफ्तार किया है। SP ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों को पालमपुर लाया जा रहा है, जहां पर उनकी शिनाख्त करवाई जाएगी। पकड़े गए तीनों आरोपी बालिग हैं और उसी क्षेत्र के रहने वाले हैं।

Palampur Gangrape – फरार चल रहे तीनों आरोपी तीनों आरोपी नहीं करते थे मोबाइल फोन इस्तेमाल

गौरतलब है कि 26 अप्रैल को पालमपुर उपमंडल के तहत परौर के जंगलों में मंदिर मार्ग पर एक नाबालिग से गैंगरेप हुआ था। इसकी शिकायत 27 अप्रैल को पुलिस में दर्ज करवाई गई थी। पुलिस ने इस पर कार्रवाई करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया था जो कि नाबालिग था। वहीं 28 अप्रैल को पुलिस ने इस मामले में एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार किया और वह भी नाबालिग निकला। पुलिस ने दोनों आरोपियों को बाल सुधार गृह ऊना भेज दिया था।

इसी बीच जांच में जुटी पुलिस को पता चला था कि मामले में वांछित आरोपियों को छुपने में एक व्यक्ति मदद कर रहा है, जिसे पुलिस ने 1 मई को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। SP ने बताया कि गैंगरेप मामले में फरार चल रहे तीनों आरोपी मोबाइल फोन तक इस्तेमाल नहीं करते थे, जिससे उनकी गिरफ्तारी में कुछ समय लगा। यह लोगों के फोन लेकर अपने क्षेत्र के अन्य लोगों को फोन कर रहे थे। पुलिस ने शक के आधार पर क्षेत्र के कुछ लोगों के फोन सर्विलांस पर लगाए और आरोपियों तक पहुंचने में पुलिस को मदद मिली।

छोटी घटनाएं छिपाने से होते हैं बड़े मामले

पालमपुर क्षेत्र में छेड़छाड़ सहित अन्य घटनाओं में उक्त आरोपियों की संलिप्तता के बारे में SP का कहना था कि पुलिस इसकी भी जांच करेगी। SP ने कहा कि जब लोग छोटी घटनाओं को नजरंदाज करते हैं तो उसके परिणाम समाज को बड़ी घटनाओं के रूप में भुगतने पड़ते हैं। इसलिए जरूरी है कि लोग छोटी घटनाओं को नजरंदाज न करें। यदि इन आरोपियों के खिलाफ पहले ही छेड़छाड़ इत्यादि की कोई शिकायत पुलिस के पास पहुंचती तो शायद गैंगरेप जैसी घटना घटित नहीं होती।

Leave a Reply