HimachalMandi

परिक्षाएं लेकर लोलीपोप देने का काम कर रहा है HRTC महकमा, 3816 कैंडिडेट ताक रहे हैं नौकरी की राह

nn
loading...

मंडी। पूर्व सरकार के समय में हुई एचआरटीसी की परिचालक परीक्षा का अभी तक अंतिम परिणाम घोषित नहीं हो सका है। इस कारण परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके कैंडिडेट्स में रोष पनपता जा रहा है। गुरुवार को परीक्षा उत्तीर्ण कर चुके मंडी जिला के इन कैंडिडेट्स ने डीसी मंडी के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को ज्ञापन भेजकर अंतिम परिणाम घोषित करने की मांग उठाई।

बता दें कि एचआरटीसी में परिचालकों के 1300 पदों के लिए परीक्षा 17 सितंबर 2017 को परीक्षा हुई थी जिसमें 28 हजार कैंडिडेट्स ने भाग लिया था। 28 सितंबर 2017 को इसका परिणाम घोषित हुआ और मेरिट के आधार पर 3816 कैंडिडेट्स को सिलेक्ट किया गया था। इसके बाद इन सभी को डॉक्यूमेंट वैरिफिकेशन के लिए शिमला बुलाया गया। डॉक्यूमेंट वैरिफिकेशन हो जाने के बाद भी अभी तक इसका अंतिम परिणाम घोषित नहीं हो सका है।

परीक्षा पास कर चुके कैंडिडेट्स ने बताया कि बेरोजगारी के इस दौर में उन्होंने इस परीक्षा के पढ़ावों को पार करने पर हजारों रुपये खर्च कर दिए हैं। इन्होंने सीएम जयराम ठाकुर से मांग उठाई है कि इस परिणाम को जल्द से जल्द घोषित किया जाए ताकि रोजगार के इंतजार में बैठे युवाओं को राहत मिल सके।

loading...

Leave a Reply