HimachalShimla

किसानों को किराये पर मिलेंगे ट्रैक्टर: सीएम जयराम ठाकुर

Jairam thakur
nn
loading...

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार ने वर्ष 2022 तक हिमाचल के किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। सीएम धर्मशाला के पास्सू गांव स्थित एक होटल में कृषि विभाग की ओर से आयोजित ‘फसल विविधता के अवसर एवं चुनौतियां’ विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला के शुभारंभ पर बोल रहे थे।

कहा कि वर्तमान में खेतों में मशीनों का उपयोग आवश्यक है। कई किसान ट्रैक्टर, पावर टिल्लर आदि मशीनें खरीदने में असमर्थ हैं। सरकार ने प्रदेश में ‘कस्टम हायरिंग सेंटर्स’ स्थापित करने का प्रस्ताव रखा है।

Online Earning Hai Easy

यहां किसान ये मशीनें किराये पर ले सकेंगे।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र के विकास को हमें किसान समुदाय के विकास पर बल देना होगा। राज्य में किसानों की आय बढ़ाने के लिए हिमाचल प्रदेश फसल विविधता प्रोत्साहन परियोजना (एचपीसीडीपी) कार्यान्वित की गई है।

उन्होंने 321 करोड़ की परियोजना में 266 करोड़ की वित्तीय सहायता देने के लिए जापान सरकार का धन्यवाद किया।   जापान सरकार से परियोजना के 1009 करोड़ के द्वितीय चरण पर विचार करने का आग्रह किया।

कहा कि यह परियोजना भारत सरकार के माध्यम से जीका को सौंपी गई है। मुख्यमंत्री ने जीका के विभिन्न प्रकाशनों का भी विमोचन किया। कृषि मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा ने कहा कि जीका-ओडीए परियोजना हिमाचल जैसे पहाड़ी राज्य के लिए उपयुक्त है।

प्रदेश की भौगोलिक परिस्थितियों के कारण यहां फसल विविधता को सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाना बड़ी चुनौती है। भारत में जीका के मुख्य प्रतिनिधि तकेमा साकामोटो ने देश में निर्माणाधीन जीका ओडीए तथा टीसीपी परियोजनाओं के सुचारु क्रियान्वयन को हरसंभव सहायता देने के लिए सरकार का आभार जताया।

इस दौरान खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर, उद्योग मंत्री विक्रम ठाकुर, स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार, शहरी विकास मंत्री सरवीण चौधरी, विधायक राकेश पठानिया, रवि धीमान, होशियार सिंह, पूर्व विधायक दूलो राम, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त एवं कृषि डॉ. श्रीकांत बाल्दी, परियोजना निदेशक डॉ. वीके शर्मा, कृषि विवि पालमपुर के कुलपति, उपायुक्त और पुलिस भी उपस्थित थे।

Leave a Reply