Kangra

भवारना: नाबालिग बेटी ने रिश्तेदारों के घर जाने से मना किया तो मां ने 250 फुट खाई में धकेली अपनी बेटी

nn
loading...

भवारना थाना के अंतर्गत चंबी पंचायत के चीडऩ गांव में 15 वर्षीय लड़की को रिश्तेदारों के घर जाने के लिए मना करना इतना महंगा पड़ा कि मां ने उसको घर के पास कथित रूप से 250 फुट गहरी खाई में धक्का दे दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार चीडऩ में अनुराधा नाम की महिला वीरवार शाम को अपने रिश्तेदारों के घर जाने के लिए तैयार हुई। इस दौरान उसने अपनी बड़ी बेटी मीनाक्षी को भी साथ चलने के लिए कहा लेकिन मीनाक्षी ने साथ चलने से मना कर दिया। लड़की की मां इस बात से इतनी गुस्से में आ गई की उसने मीनाक्षी को पीटना शुरू कर दिया। पिटाई से बचने के लिए मीनाक्षी घर से बाहर की तरफ भागी। तभी उसके भाई और बहन ने अपनी मां को ऐसा करने के रोका लेकिन गुस्से से आगबबूला मीनाक्षी की मां ने उसे डंडे से पीटना शुरू कर दिया और उसे खाई की तरफ ले गई।

150 फुट नीचे गिर कर एक पेड़ से अटक गई मीनाक्षी
खाई के पास पहुंचे ही मीनाक्षी की मां ने उसे धक्का दे दिया। यह खाई 250 फुट गहरी बताइ जा रही है तथा मीनाक्षी लगभग 150 फुट नीचे गिर कर एक पेड़ से अटक गई। थोड़ी देर बाद स्थानीय लोगों ने उसे वहां से निकाला और गंभीर हालत में नगरोटा अस्पताल पहुंचाया लेकिन वहां पहुंचने पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

इस बारे में भवारना पुलिस थाना में भी सूचना दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर हत्यारोपी मां को गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार को महिला को पालमपुर न्यायालय में पेश किया गया जहां उसे 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। एस.एच.ओ. भवारना सुरेंद्र ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने यह मामला धारा 302 के तहत दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

loading...