Kangra

भुखमरी जैसे हालात से उभरेगा काँगड़ा का ये गावं, रास्ता बनाने के लिए बजट हुआ जारी

nn
loading...
भुखमरी जैसे हालात से उभरेगा काँगड़ा का ये गावं, रास्ता बनाने के लिए बजट हुआ जारी – भारी बारिश के कारण भूस्खलन के बाद पिछले ढाई महीने से पूरे दुनिया से कटे बड़ा भंगाल के लिए जल्द ही रास्ते का निर्माण किया जाएगा. रास्ते के निर्माण के लिए साढ़े पांच लाख रुपये के बजट का प्रावधान किया गया है.

पलाचन के पास भूस्खलन के कारण रास्ता टूटने से बड़ा भंगाल का संपर्क शेष दुनिया से कट गया. प्रशासन ने पलाचन के पास झाड़ी नाम की जगह पर रास्ता बनाने के लिए साढ़े पांच लाख रुपये का प्रावधान किया है. बरसात के खत्म होते ही इस रास्ते का निर्माण 9 सदस्यीय कमेटी की निगरानी में किया जाएगा.

गौर हो कि पलाचन के पास भूस्खन से रास्ता बंद होने पर लोगों को बड़ा भंगाल चंबा या पतलीकूहल होकर जाना पड़ता है. इस बार भी राशन पहले बदली कुलशेखर खच्चरों के जरिए भेजा गया और बाद में हेलीकॉप्टर की मदद से चंबा की ओर से लोगों तक राशन पहुंचाया गया. जिसके चलते सरकार को लाखों का अतिरिक्त बोझ भी उठाना पड़ा.

टूटे रास्ते को ठीक करने के लिए 5.50 लाख रुपये का बजट मंजूर किया गया है. जिससे लगभग 5 किलोमीटर रास्ते का निर्माण किया जाएगा. बजट की पहली किश्त भी कार्यालय से जारी कर दी गई है. SDM विकास शुक्ला ने बताया कि बड़ा बंगाल को टोंक से जोड़ने के लिए इस रास्ते का निर्माण किया जाएगा. प्रशासन की टीम ने मौके का दौरा कर पूरा एस्टीमेट बनाने के बाद पहली लिस्ट जारी की है और 9 सदस्यीय कमेटी की देखरेख में ये काम पूरा कर रिपोर्ट दी जाएगी.

गौर हो कि बड़ा भंगाल कांगड़ा जिले की बैजनाथ उपमंडल की एक पंचायत है. धौलाधार व पीरपंजाल पर्वत श्रृंखला के बीच रावी नदी के किनारे बसी इस पंचायत के लिए बैजनाथ के बीड़-बिलिंग व चंबा के होली से होकर रास्ता है. बैजनाथ से बड़ा भंगाल की दूरी करीब 80 किलोमीटर है. यहां पहुंचने के लिए दो से तीन दिन का समय लगता है.