Saturday, January 19, 2019
Videsh

मुस्लिम महिला ने बुर्के से बचाई भारतीय की जान, लोग देख रहे थे तमाशा

loading...
संयुक्त अरब अमीरात में एक युवा लड़की को भारतीय नागरिक की जान बचाने के लिए सम्मानित किया जा रहा है। इंडियन एंबेसी 2 अक्टूबर यानी गांधी जयंती के दिन लड़की को सम्मानित कर रही है। 22 साल की जवाहर सैफ अल कुमैती ने कुछ ही दिन पहले बहादुरी दिखाते हुए ट्रक एक्सीडेंट में घायल भारतीय हरकिरीत सिंह की जान बचाई थी।

इस घटना के बाद से ही जवाहर को यूएई में हीरोइन कहा जाने लगा है। हाल ही में अरब पुलिस भी जवाहर को बहादुरी के लिए सम्मानित कर चुकी है। आस-पास खड़े लोग देखते रहे तमाशा…
– कुछ दिन पहले अजमान की रहने वाली 22 साल की जवाहर अपने एक दोस्त के साथ रस अल खइमाह शहर की ओर ट्रैवल कर रही थीं।
– सफर के दौरान रास्ते में ही उन्होंने आग की लपटों में घिरे दो ट्रक देखे, जिससे एक आदमी के चीखने की आवाजें आ रही थीं।
– आवाज सुनते ही जवाहर अपनी जान की परवाह किए बिना आग में फंसे शख्स की मदद के लिए आगे बढ़ गईं। 

– जवाहर ने बहादुरी दिखाते हुए अपनी दोस्त का अबाया (बुर्का) हरकिरीत के ऊपर डाल दिया और किसी तरह आग पर काबू पाया।
– आग बुझने के बावजूद जवाहर काफी देर तक घटनास्थल पर रूकी रहीं। हालांकि, इमरजेंसी सर्विस के आने के बाद वो पुलिस से बिना मिले चली गईं।
– पुलिस के मुताबिक, जवाहर के पहुंचने से पहले भी वहां काफी भीड़ जमा थी, लेकिन कोई भी हरकिरीत की मदद के लिए आगे नहीं बढ़ा।

पुलिस ने किया सम्मान

– जवाहर की बहादुरी की कहानी दुनिया के सामने तब आई जब इमरजेंसी डिपार्टमेंट के हेड मेजर तारेक अल शरहन ने इस घटना को इंस्टाग्राम पर शेयर किया।

– उनका मकसद सोशल मीडिया के जरिए जवाहर की तलाश करना था, ताकि उसे इस बहादुरी के लिए सम्मानित किया जा सके।

इन्हें भी जरुर पढ़ें
loading...

Leave a Reply

BidVertiser