HimachalPoliticsUna

सियासी फिजाओं को गर्म करेगा CM वीरभद्र का दौरा

nn
loading...
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का दो दिन का प्रस्तावित ऊना दौरा राजनीतिक फिजाओं को गर्म करने वाला रहेगा। CM वीरभद्र सिंह के दौरे को लेकर जहां प्रशासनिक अमला सक्रिय हो गया है। वहीं दूसरी ओर राजनीतिक तौर पर भी CM के दौरे की तैयारियां सरगर्मी से शुरू हो गई है। हरोली में मुख्यमंत्री जहां विकास के कार्यों को गति देते दिखेंगे। वहीं उद्योग मंत्री मुकेश अग्निहोत्री के नेतृत्व को एक बार पुन: मजबूती देते दिखाई देंगे।
दूसरी ओर CM वीरभद्र सिंह का कुटलैहड़ व ऊना हल्के का दौरा सबसे अधिक चर्चाओं में है। वीरभद्र सिंह के लिए कुटलैहड़ हल्का काफी अहमयित रखता है इसके लिए वह कई बार कुटलैहड़ में आकर कांग्रेस की हार का दर्द भी याद कर चुके हैं। ऐसे में इस बार मुख्यमंत्री के दौरे के दौरान एक BJP नेता को कांग्रेस में लाने की चर्चा जोरों पर है। माना जा रहा है कि शुक्रवार को शिमला में भी इस नेता की मुलाकात CM व अन्य नेताओं से हुई है।

कुटलैहड़ के लिए मुख्यमंत्री का दौरा काफी गर्म रह सकता है

ऐसे में कुटलैहड़ हलके से भाजपा नेता क्या कांग्रेस का दामन थामेंगे इस पर सबकी नजर है। काफी समय से BJP नेता को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने इस नेता को कांग्रेस में लेने के लिए हरी झंडी दे दी है। अब इस दौरे में भाजपा नेता को कांग्रेस में लाने की रणनीति को अंजाम दिया जाएगा। कुटलैहड़ के लिए CM का दौरा काफी गर्म रह सकता है। एक और जहां एक धड़ा BJP नेता के कांग्रेस में आने का अभी से स्वागत करने में जुट गया है। तो वहीं दूसरी ओर अंदरखाते कई नेता इसको लेकर विरोधी भावनाएं भी रख रहे हैं।

BJP के राज्य अध्यक्ष के नाते भी CM सतपाल सत्ती के निशाने पर रहते हैं

देखना यह होगा कि मुख्यमंत्री का दौरा किस प्रकार से BJP को झटका देता है। क्या कांग्रेस की कांग्रेस की आपसी लड़ाई पर रोक लगा पाता है या इसे और बड़ा कर जाता है। इसी के साथ काफी समय बाद मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ऊना सदर हलके का दौरा करेंगे। सदर हल्के की कमान तीन चुनावों से BJP के विधायक सतपाल सिंह सत्ती के पास है।
BJP के राज्य अध्यक्ष के नाते भी CM सतपाल सत्ती के निशाने पर रहते हैं। हाल ही में उन्होंने मुख्यमंत्री पर ऊना हलके के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाया है। ऐसे में मुख्यमंत्री ऊना दौरे के दौरान किस प्रकार से BJP को घेरते हैं। यह देखने वाली बात होगी। वहीं कांग्रेस के अंदर ऊना सदर में सब ठीक नहीं है एयह सब जानते हैं। ऊना हल्के में सतपाल सिंह रायजादा एकरुण शर्मा, राजीव गौतम व शिव कुमार सैनी सहित कई गुट काम कर रहे हैं। देखना यह होगा कि सदर में किसे मुख्यमंत्री राजनीतिक रूप से मजबूत करके जाते हैं।

Leave a Reply