HimachalJobs

हिमाचल प्रदेश में होने जा रही है JBT के 700 पदों पर भर्ती

jbt
nn
loading...

हाईकोर्ट से टेट मेरिट को मंजूरी नहीं मिलने के बाद सरकार ने जेबीटी के 700 पद बैचवाइज और कमीशन से भरने का फैसला लिया है। जेबीटी भर्ती के लिए अब नए सिरे से विज्ञापन जारी किया जाएगा। 50 फीसदी पद बैचवाइज और 50 फीसदी पद कमीशन के माध्यम से भरे जाएंगे। गौर हो कि बीते साल जुलाई में टेट मेरिट पर हुए साक्षात्कार कोर्ट से मंजूरी न मिलने के चलते रद्द हो गए हैं।

प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने बीते साल स्वीकृत किए जेबीटी के 700 पदों को टेट मेरिट से भरने की प्रक्रिया शुरू की थी। विभिन्न जिलों में साक्षात्कार लिए गए। इसी बीच कुछ जेबीटी प्रशिक्षु टेट मेरिट से भर्ती के खिलाफ प्रशासनिक ट्रिब्यूनल पहुंच गए।

प्रशिक्षुओं ने बैचवाइज या कमीशन से भर्ती करने की मांग की।

ट्रिब्यूनल ने इन प्रार्थियों के पक्ष में फैसला सुनाते हुए पुरानी भर्तियों पर सवाल उठाए थे। उधर, कुछ जेबीटी प्रशिक्षुओं ने ट्रिब्यूनल में रिव्यू पिटीशन दायर कर दी। इस पर ट्रिब्यूनल ने कहा कि जो भर्तियां पहले हो गईं, वे ठीक हैं। भविष्य के लिए नए नियम बनाकर भर्तियां की जाएं।

विभागीय अधिकारियों की बैठक में हुआ ये फैसला

मामले पर ट्रिब्यूनल में दोबारा सुनवाई के दौरान टेट मेरिट से हुई भर्ती को निरस्त कर दिया गया। कुछ प्रशिक्षु इस मामले को लेकर हाईकोर्ट पहुंच गए। हाईकोर्ट ने 23 फरवरी को मामले की सुनवाई करते हुए टेट मेरिट से भर्ती प्रक्रिया को रद्द कर दिया। शिक्षा विभाग की ओर से टेट मेरिट से भर्ती को मंजूरी देने की याचिका को भी खारिज कर दिया।

कोर्ट ने कहा कि शिक्षा विभाग नए भर्ती एवं पदोन्नति नियमों के तहत बैचवाइज और कमीशन से भर्ती के लिए स्वतंत्र है। टेट मेरिट से भर्ती को मंजूरी नहीं दी जा सकती। इसी कड़ी में अब शिक्षा सचिव की अध्यक्षता में हुई विभागीय अधिकारियों की बैठक में जेबीटी के 700 पद बैचवाइज और कमीशन से भरने का फैसला लिया गया है।

8 मई को कोर्ट में नए नियम से अवगत करवाएगा विभाग

आठ मई को इस मामले की हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है। इस सुनवाई में शिक्षा विभाग को कोर्ट के समक्ष अपना रुख स्पष्ट करने को कहा गया है। इसके चलते ही विभाग ने नए भर्ती एवं पदोन्नति नियमों के तहत जेबीटी के 700 पद भरने का फैसला लिया है।

loading...

Leave a Reply