HimachalPolitics

हिमाचल में नई सरकार: काउंट डाउन शुरू, बढ़ने लगी नेताओं की धुकधुकी

himachal assembly election
nn
चुनाव प्रचार की थकान मिटाने के लिए प्रदेश से बाहर गए नेता वापिस लौटने लगे हैं। केरल में सेहतमंद होने के लिए गए पूर्व सीएम व भाजपा के इस दफा के सीएम कैंडिडेट प्रेम कुमार धूमल वापस लौट आए हैं। रविवार को वीरभद्र सिंह भी केरल से लौट आएंगे।
चुनाव प्रचार के लिए गुजरात गए हिमाचल भाजपा व कांग्रेस के नेता भी लौटने लगे हैं। मतगणना का समय समीप आते देखकर न केवल नेता बल्कि आम कार्यकर्ता भी बेचैन हो रहे हैं। वहीं,  निर्वाचन आयोग ने भी मतगणना के लिए तैयारियों की रिहर्सल शुरू कर दी है। फिलहाल, सेहत दुरुस्त करने के लिए पंचकर्मा व अन्य आयुर्वेदिक उपायों के लिए केरल गए पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल शनिवार को हमीरपुर पहुंचे।
धूमल अब अपने घर समीरपुर में ही रहेंगे। चुनाव नतीजों के बाद ही वे शिमला का रुख करेंगे। वहीं,  सीएम वीरभद्र सिंह भी दिल्ली के दौरे के बाद केरल रवाना हो गए थे। वीरभद्र सिंह रविवार को वापिस आएंगे। इस तरह दोनों शीर्ष नेता मतदान और मतगणना के बीच के लंबे समय का लाभ उठाकर तरोताजा होकर लौटे हैं। पीएम नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में प्रचार के लिए गए अधिकांश भाजपा नेता भी आ गए हैं।
हिमाचल के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव बिंदल,  विधायक बलदेव तोमर व सुरेश कश्यप गुजरात में पहले चरण का मतदान होते ही वापिस लौट आए। हमीरपुर से सांसद अनुराग ठाकुर भी गुजरात में प्रचार करने के बाद अर्जेंटीना चले गए हैं। वह दिल्ली लौटने के बाद हिमाचल आएंगे। इसी तरह अन्य पार्टी नेता भी गुजरात से लौट आए हैं और अपनी मतगणना तैयारियों में जुट गए हैं। विधानसभा चुनाव में 9 नवंबर को वोट डालने वाली प्रदेश की जनता को भी 18 दिसंबर को मतगणना का इंतजार है। इस समय आम जनता के बीच यही चर्चा का विषय है कि हिमाचल में नई सरकार किसकी बनेगी।

ये हैं हॉट सीट्स और इन दिग्गजों की साख दांव पर 

हिमाचल प्रदेश के ये चुनाव कई मायनों में अहम हैं। कद्दावर नेता वीरभद्र सिंह व प्रेम कुमार धूमल की प्रतिष्ठा दांव पर है। वीरभद्र सिंह के राजनीतिक जीवन का संभवत: ये आखिरी चुनाव है। वे छह बार सीएम बने हैं। कांग्रेस मिशन रिपीट का दावा कर रही है। हिमाचल में ये चुनाव वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह के लिए भी अहम हैं। वे पहली बार चुनावी मैदान में हैं।
इसी तरह कांग्रेस के बड़े नेता कौल सिंह,  जीएस बाली,  प्रकाश चौधरी के लिए भी ये चुनाव साख और नाक का सवाल है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह के लिए भी ये चुनाव महत्वपूर्ण है। वे पिछला चुनाव हारे थे और इस बार जीतना उनके राजनीतिक जीवन के लिए निर्णायक मोड़ होगा। भाजपा के सीएम कैंडिडेट प्रेम कुमार धूमल के लिए तो ये चुनाव बेहद अहम हैं। पार्टी ने उन्हें सीएम फेस बनाया है। ऐसे में न केवल खुद बल्कि भाजपा का चुनाव जीतना भी उनकी प्रतिष्ठा बना हुआ है।

himachal assembly election

Source – eenaduindia.com

loading...
[Total: 0    Average: 0/5]

Leave a Reply