HimachalMandiPolitics

पढ़िए हिमाचल के नए CM की लव स्टोरी, इस मोड़ पर जयराम से टकराई थीं उनकी हमसफर

जयराम ठाकुर की प्रेम कहानी हिमाचली ख़बर की जुबानी

Jairam Thakur Love Story
nn
loading...

हिमाचली ख़बर –  हिमाचल के राजनीतिक इतिहास में पहली बार मंडी जिला को सूबे की सरदारी मिली है। हिमाचल के नए मुख्यमंत्री के तौर पर जयराम ठाकुर का नाम फाइनल होने के बाद वो 27 दिसंबर को शिमला के रिज मैदान पर शपथ लेंगे। सिराज विधानसभा क्षेत्र से पांचवीं बार जीते जयराम ठाकुर चुनाव परिणाम आने के बाद से सीएम पद की रेस में सबसे आगे थे। उनके पक्ष में न केवल संघ से नजदीकी, संगठन के कार्य का अनुभव व निर्विवाद छवि थी, बल्कि केंद्र में कद्दावर नेता जेपी नड्डा का वरदहस्त भी था। Jairam Thakur Love Story

हिमाचल के नए मुख्यमंत्री बनने जा रहे जयराम ठाकुर के निजी और सार्वजनिक जीवन पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का खासा प्रभाव रहा है। शालीन स्वभाव के जयराम ठाकुर संघ में कार्य करते हुए ही पहली बार अपनी जीवन संगिनी डॉ. साधना से मिले थे। जयराम ठाकुर की लव स्टोरी भी काफी रोचक है। जयराम और डॉ. साधना की पहली मुलाकात भी संघ सम्मेलन के दौरान ही हुई थी।

jairam thakur
संघ कार्यकर्ताओं के साथ जयराम ठाकुर।

नब्बे के दशक में जम्मू में आयोजित संघ प्रचारकों के सम्मेलन में जयराम की मुलाकात राजस्थान की प्रचारक डॉ. साधना से हुई। जिसके बाद दोनों के बीच वैचारिक समानता से दोस्ती हुई। इस दौरान जयराम ठाकुर डॉ. साधना के मुरीद हो गए थे। धीरे-धीरे दोस्ती का रिश्ता प्यार में बदला और फिर दोनों ही साल 1995 में परिणय सूत्र में बंध गए।

डॉ. साधना राजस्थान के जयपुर की रहने वाली हैं। डॉ. साधना मूल रूप से कर्नाटक की रहने वाली हैं। लेकिन बाद में उनका परिवार जयपुर में आकर बस गए। आज के समय इन जयराम ठाकुर की दो बेटियां हैं। वहीं, शादी के तीन साल बाद ही 1998 में पहली बार विधायक बने। इससे पहले वो साल 1993 में विधानसभा चुनाव हारे भी। पहले चुनाव में हारने के बाद जयराम ठाकुर ने आर्थिक हालात का बखूबी संभाला।

बेहद करीब से देखी है गरीबी, जानिए हिमाचल के सीएम जयराम के बारे में 10 बातें

आर्थिक स्थिति कमजोर होने के चलते उनका परिवार दोबारा उन्हें राजनीति में नहीं आने देना चाहता था। लेकिन साल 1998 में चुनाव जीत गए। जयराम ठाकुर शालीन स्वभाव के नेता रहे हैं। वो अभी तक अपने पुश्तैनी मकान में ही रहते हैं। उन्होंने शादी के बाद भी पुराने घर से नाता नहीं टूटने दिया। साल 1995 में डॉ. साधना के साथ शादी होने पर उन्होंने अपनी जीवन साथी का गृह प्रवेश पुश्तैनी घर में ही करवाया। जयराम ठाकुर की शालीनता का प्रभाव उनके परिवार में भी दिखता है। भाई विधायक बन गए लेकिन उनकी बहन अनु ठाकुर पिछले 20 सालों से आंगनबाड़ी वर्कर हैं। शादी के बाद जयराम ठाकुर पुरे परिवार के साथ पुश्तैनी घर में सबके साथ रहे। जयराम ठाकुर ने आज तो आलीशान घर बना लिया है, लेकिन व्यस्त होने के बावजूद वे अपनों को नहीं भूले हैं।

हिमाचल प्रदेश के 13वें सीएम बने जयराम

जयराम ठाकुर छोटे पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश के 13वें सीएम होंगे। हिमाचल निर्माता स्व. डॉ. वाईएस परमार हिमाचल के पहले सीएम थे। परमार के अलावा ठाकुर रामलाल, वीरभद्र सिंह, शांता कुमार व प्रेम कुमार धूमल हिमाचल के मुख्यमंत्री रहे हैं। वीरभद्र सिंह छह बार सीएम बने हैं। शांता कुमार व प्रेम कुमार धूमल को दो-दो बार यह गौरव हासिल हुआ है। रामलाल ठाकुर भी दो दफा सीएम रहे।

Source – eenaduindia

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें और पाए हिमाचल की हर ख़बर अपनी फेसबुक वाल पर

Jairam Thakur Love Story नहीं पढ़ी आपने तो कुछ नहीं पढ़ा

loading...

Leave a Reply