Ajab Gazab

अलर्ट मोड पर बिहार, पटना एयरपोर्ट पर हर यात्री को करानी होगी कोरोना जांच, रेलवे स्टेशन पर सख्ती..

PATNA : अलर्ट मोड पर बिहार, पटना एयरपोर्ट पर हर यात्री को करानी होगी कोरोना जांच, रेलवे स्टेशन पर सख्ती : पटना एयरपोर्ट पर हर यात्री को करानी होगी कोरोना जांच:नई व्यवस्था जल्द होगी लागू, बिहार में बिना टेस्ट के नहीं मिलेगी एंट्री, 281 लोगों की चल रही है तलाश, अब तक स्वेच्छा से चल रही थी जांच, रेलवे स्टेशन पर जांच को लेकर सख्ती, DM ने कहा सुरक्षा को लेकर चल रही है तैयारी, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा अलर्ट मोड पर बिहार

कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर एक बार फिर पटना एयरपोर्ट पर सख्ती बढ़ाई जा सकती है। अब नई व्यवस्था के तहत फ्लाइट से आने वाले सभी यात्रियों को कोरोना की जांच करानी होगी। मौजूदा समय में स्वेच्छा से जांच की व्यवस्था थी, लेकिन कई देशों में कोरोना के नए स्ट्रेन सामने आ रहे हैं। इसको लेकर सख्ती बढ़ाने को लेकर मंथन चल रहा है। प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की बैठक में कोरोना को लेकर जांच में सख्ती बढ़ाने की तैयारी चल रही है। नए वैरिएंट को लेकर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट मोड पर रहने का निर्देश दिए हैं।

281 लोगों की चल रही है तलाश
विदेश से बिहार में आने वालों की सूची मिलने के बाद अब राज्य में सख्ती की तैयारी है। 281 लोगों में 30 से ज्यादा लोग पटना के हैं। इसमें कई ऐसे हैं जो जांच कराने को तैयार नहीं है। इसी को लेकर अब जांच को लेकर सख्ती बढ़ाई जा रही है। बिहार में विदेश यात्रा से लौटे 281 लोगों की जांच को लेकर राज्य के संबंधित जिलों को अलर्ट किया गया है। अब हर जिले में सूची में शामिल लोगों की तलाश कर उनकी जांच कराई जा रही है। पटना में 10 लोगों की जांच हो चुकी है। सूची के आधार पर अन्य लोगों की तलाश की जा रही है।

अब तक स्वेच्छा से चल रही थी जांच
पटना एयरपोर्ट पर जांच का जिम्मा केयर इंडिया को दिया गया है। केयर संस्था के वालंटियर ही कोरोना की जांच कर रहे हैं। संस्था से जुड़े लोगों का कहना है कि अब तक स्वेच्छा से जांच की जा रही थी। लेकिन अब कई देशों में एक्टिव हो रहे कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर सख्ती बढ़ाई जा रही है। बताया जा रहा है कि कोरोना को लेकर पटना एयरपोर्ट पर जांच की संख्या बढ़ाई जाएगी। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की बैठक में यह मंथन किया जाएगा कि किस तरह से एयरपोर्ट पर जांच कराई जाए। अब जो व्यवस्था बन रही है उसके मुताबिक जिसके पास 72 घंटे के अंदर की RT-PCR जांच रिपोर्ट नहीं हाेगी, उसकी जांच कराई जाएगी।

रेलवे स्टेशन पर जांच को लेकर सख्ती
पटना की सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी का कहना है कि- “रेलवे स्टेशनों पर कोरोना की जांच को लेकर सख्ती है और टीम की भी पर्याप्त व्यवस्था है। जांच को लेकर लगाई गई टीम को हमेशा ब्रीफ किया जाता है। जिससे सुरक्षा को लेकर अधिक से अधिक जांच कराई जा सके। सिविल सर्जन का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग का जो आदेश होगा उसका अनुपालन भविष्य में किया जाएगा।”

DM ने कहा सुरक्षा को लेकर चल रही है तैयारी
पटना DM डॉ. चंद्रशेखर सिंह का कहना है कि सुरक्षा को लेकर पूरी तैयारी है। इसमें कहीं से पैनिक नहीं होना है। जागरुकता और बचाव से ही कोरोना से बचा जा सकता है। बचाव को लेकर जांच कराया जा रहा है। प्लान तैयार किया जा रहा है। ताकि विदेश से आने वालों की जांच कराई जाए। सूची जो भी आई है, उसमें शामिल लोगों की जांच कराई जा रही है। डीएम का कहना है कि लोगों से अपील की जा रही है कि वह बाहर से आने के बाद जांच कराएं। विदेश से आने वालों की तो शत प्रतिशत जांच की जाए।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा अलर्ट मोड पर बिहार
कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर बिहार में स्वास्थ्य विभाग का अलर्ट है। शनिवार को PM नरेंद्र मोदी की हाईलेवल मीटिंग के बाद अब CM नीतीश कुमार ने भी बैठक की है। इस दौरान कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर सुरक्षा पर मंथन किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का कहना है कि- कोरोना का जो नया वैरिएंट ओमिक्रोन आया है, इसको लेकर बिहार अलर्ट मोड पर है। अब RT-PCR की जो भी जांच होगी, उसमें इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि कोई भी नया वैरिएंट आए उसकी जानकारी मिल जाए।

अब तक देश में इस वैरिएंट का कोई पॉजिटिव केस देश में नहीं आया है। लेकिन इसके बाद भी विभाग पूरी तरह से अलर्ट है। भारत सरकार ने 281 लोगों की जो लिस्ट दी है उसमें सभी लोगों के घर टीम जा रही है। और जो घर पर हैं उनकी जांच कराई जाएगी। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Leave a Reply