Ajab GazabIndia

इधर BJP दफ्तर पहुंचे केजरीवाल, उधर घर में घुसी दिल्ली पुलिस, कर दिया ये काम

इधर BJP दफ्तर पहुंचे केजरीवाल, उधर घर में घुसी दिल्ली पुलिस, कर दिया ये काम

इधर BJP दफ्तर पहुंचे केजरीवाल, उधर घर में घुसी दिल्ली पुलिस, कर दिया ये काम

नई दिल्ली: एक तरफ आम आदमी पार्टी के नेता बीजेपी दफ्तर की ओर कूच कर रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर दिल्ली पुलिस दोबारा सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास पहुंची है। स्वाति मालीवाल केस में दिल्ली पुलिस को घटना का सीसीटीवी फुटेज और डीवीआर अब तक नहीं मिला है। माना जा रहा है कि पुलिस इन्हीं दोनों को हासिल करने सीएम आवास पहुंची है। बता दें कि शनिवार को भी दिल्ली पुलिस सीएम आवास पहुंची थी जहां से केजरीवाल के पीए विभव कुमार को गिरफ्तार किया था। स्वाति मालीवाल भी सीसीटी फुटेज से छेड़छाड़ और उसे डिलीट करने की बात कह चुकी हैं।

ये भी पढ़ें – बड़े कालेज की लड़कियां कुछ इस तरह से करती हैं देह-व्यापार

दो दिन में दो बार सीएम आवास पहुंची दिल्ली पुलिस: 
स्वाति मालीवाल के साथ हुई मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने बिभव कुमार को शनिवार को गिरफ्तार किया। उनकी गिरफ्तारी सीएम आवास के अंदर से ही हुई थी। इसके बाद आज दोबारा दिल्ली पुलिस उसी जगह पहुंची है। दरअसल, पुलिस को स्वाति मालीवाल केस से जुड़ी सीसीटीवी फुटेज और डीवीआर नहीं मिली है। एक दिन पहले ही जो पेन ड्राइव पुलिस को दिया गया था वह ब्लैंक था। सिविल लाइन पुलिस ने बिभव कुमार को पहले हिरासत में लिया था। उसके बाद गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में विभव कुमार के वकील का कहना है कि अभी तक उन्हें एफआईआर की कॉपी नहीं मिली है। इस मामले में आम आदमी पार्टी के नेता पहले ही इसे दिल्ली के मुख्यमंत्री को फंसाने के लिए स्वाति मालीवाल का इस्तेमाल करने की साजिश बता चुके हैं।

तीस हजारी कोर्ट ने दी 7 दिन की रिमांड: विभव कुमार की जमानत याचिका खारिज करते हुए कोर्ट ने कहा की एडिशनल पब्लिक प्रॉसिक्यूटर ने कोर्ट को बताया कि विभव कुमार को गिरफ्तार किया जा चुका है। विभव को 4 बजकर 15 मिनट पर गिरफ्तार किया गया। कोर्ट ने कहा कि आरोपी पहले ही गिरफ्तार हो चुका है, इसलिए अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई का कोई औचित्य नहीं है। दिल्ली पुलिस की ओर से पेश वकील ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज डिलीट की गई और फोन को भी फॉर्मेट कर दिया गया। विभव के वकील ने कहा कि पुलिस ने उनके मुवक्किल से फोन का पासवर्ड मांगा था। हमारे क्लाइंट को आप जबरदस्ती पासवर्ड देने के लिए नहीं कह सकते।

ये भी पढ़ें – बड़े कालेज की लड़कियां कुछ इस तरह से करती हैं देह-व्यापार

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply