Ajab GazabIndia

इस हिंदू ने किया था मक्का मे प्रवेश, अंदर जाने के बाद जो हुआ उसे देखकर सब रह गए हैरान

इस हिंदू ने किया था मक्का मे प्रवेश, अंदर जाने के बाद जो हुआ उसे देखकर सब रह गए हैरान

इस हिंदू ने किया था मक्का मे प्रवेश, अंदर जाने के बाद जो हुआ उसे देखकर सब रह गए हैरान

मक्का मदीना के बारे मे तो आपने सुना ही होगा यह मुस्लिमो का सबसे पवित्र तीर्थ स्थान है. मक्का मे गैर मुसलमानो का प्रवेश करना मना है लेकिन क्या होगा जब हम आपको बतादे की एक हिंदू ने भी मक्का की यात्रा की थी और उस हिंदू का नाम था गुरु नानक देव जी.

ये भी पढ़ें – बड़े कालेज की लड़कियां कुछ इस तरह से करती हैं देह-व्यापार

गुरु नानक देव जी ने अपने जीवनकाल में कई जगह की यात्राएं कीं.एक बार नानक देव जी मक्का नगर में पहुंच गए. उनके साथ कुछ मुस्लिम भी थे. जब वह मक्का पहुंचे तो सूरज अस्त हो रहा था. सभी यात्री काफी थक चुके थे. गुरु जी रात के समय थकान होने पर काबा की तरफ विराज गए

काबा की तरफ पैर देखकर जिओन ने गुस्से में गुरु जी से कहा कि तू कौन काफिर है जो खुदा के घर की तरफ पैर करके सोया हुआ है? इस पर नानक देव जी ने बड़ी ही विनम्रता के साथ कहा, मैं यहां पूरे दिन के सफर से थककर लेटा हूं, मुझे नहीं मालूम की खुदा का घर किधर है तू हमारे पैर पकड़कर उधर कर दे जिस तरफ खुदा का घर नहीं है

गुरु जी की यह बात सुनकर जिओन को गुस्सा आ गया और उसने उनके चरणों को घसीटकर दूसरी ओर कर दिया. इसके बाद जब उसने चरणों को छोड़कर देखा तो उसे काबा भी उसी तरफ ही नजर आने लगा. इस तरह उसने जब फिर से चरणों को दूसरी तरफ किया तो फिर काबा उसी और घूमते हुए नजर आया जिओन ने यह बात हाजी और मुसलमानों को बताई

इस चमत्कार को सुनकर वहां काफी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए. इसे देखकर सभी लोग दंग रह गए और गुरु नानक जी के चरणों पर गिर पड़े. उन सभी ने नानक देव जी से माफी मांगी. जब वह वहां से चलने की तैयारी करने लगे तो काबा के पीरों ने गुरु नानक देव जी से विनती करके उनकी एक खड़ाव निशानी के रूप में अपने पास रख ली.
ये भी पढ़ें – बड़े कालेज की लड़कियां कुछ इस तरह से करती हैं देह-व्यापार

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply