Ajab GazabIndia

ऐसा मुख्य द्वार धन के नाश का कारक होता है तुरंत करे ये बदलाव

ऐसा मुख्य द्वार धन के नाश का कारक होता है तुरंत करे ये बदलाव
ऐसा मुख्य द्वार धन के नाश का कारक होता है तुरंत करे ये बदलाव

आपके घर में हर चीज का एक मतलब होता है। लेकिन जब हम उसको वास्तु की नजर से देखते है तो इसके सही और गलत परिणाम हो सकते है। आपके घर में हर चीजों से ज्यादा महत्वपूर्ण आपके घर का दरवाजा होता है। सारी खुशियों का आगमन इसी से होता है।

ये भी पढ़ें – बड़े कालेज की लड़कियां कुछ इस तरह से करती हैं देह-व्यापार

आज हम आपको वास्तुशास्त्र में बताए गए दरवाजे से सम्बंधित दोष और उनसे होने वाली परेशानियों के बारे में बतायेंगे वास्तु शास्त्र में घर निर्माण से लेकर घर के मुख्य द्वार की बनावट और प्रत्येक चीज़ के लिए कुछ निर्देश दिए गए हैं जिन्हें अपनाने से हमें जीवन के प्रत्येक छेत्र में लाभ मिलता है।

आपको बता दें कि आपके दरवाजे में वास्तु से संबंधित कई राज दबे हुए है। आज आपको कुछ ऐसी पता चलेंगी जो आपके लिए फायदेमंद है। आपको इसी हिसाब से अपने दरवाजे से जुड़े हर पहलू का ज्ञान रखना है। ये आपके परिवार के लिए सही है।

बार बार खुलता है दरवाजा: अगर आपका दरवाजा बार बार खुलता है तो ये आपके लिए ठीक नही है। इसको अशुभ माना जाता है। आपको बता दें कि यदि ऐसा होता है तो उस घर के मालिक पर इसका बुरा असर पड़ने की संभावना होती है। इसलिए इस चीज से बचें।

टेढ़ा दरवाजा: वास्तु शास्त्र में ऐसे दरवाजों को घर में लगे रहने के लिए मना किया है जो पूराने होने पर सीलन के कारण टेढ़े और तिरछे हो जाते है। ऐसे दरवाजों का घर में होने का मतलब होता है कि ये आपके घर को नाश की तरफ ले जा सकता है। इनको तुरंत हटाएं।

चौखट से बड़ा दरवाजा: ऐसा माना जाता है कि आपके घर के दरवाजे हमेशा चौखट से छोटे ही होने चाहिए। अगर आपके घर में कोई दरवाजा चौखट से बड़ा है तो इसको जल्दी से ठीक कराएं क्योंकि ऐसा होने से उस परिवार के ऊपर सदा मुसीबतों का साया मंडराता रहता है।

छोटा भी ना हो: अगर आपके घर का दरवाजा चौखट की नाप से छोटा है तो भी आपके लिए ठीक नही है। इसको आप तुरंत ठीक कराएं। चौखट औक दरवाजे की माप हमेशा सही ही होनी चाहिए। ऐसा ना होने से कठिनाइयां आती है।

मुख्य दरवाजा: आपक घर का मेन दरवाजा कभी भी टूटा या सड़ा नहीं होना चाहिए। वास्तु बताता है कि घर का मेन दरवाजा आपको सम्मान और प्रतिष्ठा दिलवाता है। इसके गंदे और टूटे होने के कारण आपका सम्मान सबके सामने कम हो जाता है।

मुख्य द्वार पर हो दो पल्ले के दरवाजे: आपको बता दें कि अगर आपके घर के दरवाजों में दो पल्ले के दरवाजे नही है तो ये मकान मालिक के लिए अल्पायु साबित हो सकता है। हमेशा दो पल्ले वाले दरवाजे लगाएं। इससे मकान के स्वामी की उम्र बढती है।

अदर की तरफ खोले दरवाजा: अगर आपके घर का मेन दरवाजा बाहर की तरफ खुलता है तो ये खतरे की घंटी है। आपके घर का मुख्य दरवाजा हमेशा अंदर की तरफ खुलना चाहिए। अगर ये दरवाजा बाहर की तरफ खुलेगा तो आपको हमेशा ही शोक समाचार ही सुनने को मिलेगें।

खुलने पर ना आएं आवाज: अगर आपके घर का दरवाजा खुलने पर आवाज करता है तो आपको सावधान हो जाना चाहिए। इसको तुरंत सही कराएं क्योंकि ऐसा होने पर आपके घर में क्लेश बढ़ता है। जो आपके लिए सही नही है। इसको तुरंत सही कराएं, बिल्कुल भी नजरअंदाज ना करें।
ये भी पढ़ें – बड़े कालेज की लड़कियां कुछ इस तरह से करती हैं देह-व्यापार

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply