Ajab GazabHealthIndia

कैंसर की पहली स्टेज में शरीर में दिखाई देते हैं ये 8 बदलाव, जरूर जानें

कैंसर की पहली स्टेज में शरीर में दिखाई देते हैं ये 8 बदलाव, जरूर जानें

कैंसर एक खतरनाक बीमारी है। जिसका नाम सुनते ही लोग डर जाते हैं। भारत में कैंसर की वजह से हर साल कई लोगों की मौत हो रही है। शरीर में कैंसर की जब पहली स्टेज होती है तो शरीर इसके संकेत बता देता है। कैंसर के संकेतों को सही समय पर पहचान लिया जाए तो इस बीमारी का इलाज हो सकता है।

अगर कैंसर के संकेतों को नजरअंदाज कर दिया तो इस बीमारी का इलाज संभव नहीं हो पाता है। और व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। इसलिए बड़े-बड़े फिल्मी सितारे या खिलाड़ी समय-समय पर अपने शरीर का चेकअप कराते रहते हैं। और कैंसर की बीमारी होने पर विदेश जाकर इलाज करवाते हैं। और पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि भारत में कैंसर का इलाज नहीं होता है। आइए कैंसर की बीमारी शुरुआती संकेतों के बारे में जान लेते हैं। कैंसर की पहली स्टेज में शरीर में दिखाई देते हैं ये 8 बदलाव, जरूर जानें।

कैंसर के शुरुआती लक्षण

1. शरीर के किसी अंग पर चोट लगने से खून लगातार बह रहा है तो यह कैंसर की बीमारी का संकेत भी हो सकता है। और मलाशय के द्वार से खून निकलना कोलोन कैंसर की बीमारी का संकेत हो सकता है।

2. दुनिया के लगभग 18% लोगों को शौच के समय, मल और आकार में बदलाव होने के कारण भी कैंसर की बीमारी हो सकती है। इसे नजरअंदाज नहीं करें।

3. शरीर में कैंसर के शुरुआती स्टेज में शरीर का वजन तेजी से कम होने लगता है। और 1 महीने में वजन 5 किलो तक भी कम हो सकता है।

4. कैंसर की शुरुआती स्टेज में शरीर में छोटी-छोटी गांठे बनती हैं। जो धीरे-धीरे बड़ी होने लगती हैं। अगर आपके शरीर पर भी कोई गांठ बन रही है तो तुरंत डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

5. अगर शरीर का कोई अंग बिना चोट लगे ही सूज जाता है तो यह कैंसर की बीमारी का संकेत हो सकता है।

6. लगातार बहुत दिनों से उल्टी होना और उल्टी के साथ खून आना आपके पेट में कैंसर की बीमारी के संकेत हो सकते हैं।
7. अचानक से आंखों की रोशनी कमजोर होना और अचानक से सिर में तेज दर्द होना दिमाग में कैंसर की बीमारी के संकेत भी हो सकते हैं।

8. बहुत दिनों से खांसी और बलगम की बीमारी होना और सांस लेने में परेशानी होना फेफड़ों में कैंसर की बीमारी के संकेत भी हो सकते हैं। ऐसा होने से फेफड़ों तक ही सही तरीके से ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती है। और व्यक्ति चक्कर आकर बेहोश होने लगता है।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply