Shimla

गाँधी सेतु के समान्तर नए पूल का निर्माण तेज़ जानिए कहाँ तक पंहुचा काम ;

 

बिहार की लाइफ लाइन कहे जाने वाले महात्मा गांधी सेतु से जुड़ी एक अच्छी खबर सामने आई है जानकारी के अनुसार महात्मा गांधी सेतु पुल के समानांतर बन रहे फोरलेन का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। इसके साथ साथ बताया जा रहा है कि इस परियोजना को साल 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा। जहां एक और परियोजना पूर्ण होने के बाद उत्तर से दक्षिण बिहार आना-जाना आसान होगा वही महात्मा गांधी सेतु से भी भारी वाहनों का दबाव कम होगा।

अगर इस पूल के निर्माण की बात करे तो इसका निर्माण बहुत ही तेज़ चल रहा है जानकारी के अनुसार इस समानांतर पुल के 33 पिलर में से 19 पिलर का निर्माण पूरा किया जा चुका है। इसके साथ-साथ विभाग ने निर्माण कर रही एजेंसी को हिदायत दी है कि सितंबर 2024 तक इस पुल का निर्माण 100 फ़ीसदी पूर्ण कर लिया जाना चाहिए। आपको बता दूँ की महात्मा गांधी सेतु पुल के बन रहे समानांतर इस फोरलेन की लागत 2926.42 करोड़ है। इसका निर्माण पटना के जीरो माइल से हाजीपुर के बीएसएनएल गोलंबर तक किया जा रहा है। इसकी कुल लंबाई 14.5 किलोमीटर बताई जा रही है।

बता दें कि इस समानांतर पुल के बन जाने के बाद इस पुल से दोनों लेन की सर्विस उपलब्ध होगी। एक लाइन से ऑटो तथा छोटे वाहनों तथा एक लाइन से बड़े वाहनों का परिचालन किया जाएगा। जहां एक और इस पुल के बन जाने के बाद यहां आने वाले लोगों को जाम की समस्या से मुक्ति मिलेगी वही उत्तर से दक्षिण बिहार आना-जाना आसान हो जाएगा। राजधानी पटना की परिवहन व्यवस्था पहले से सुदृढ़ हो जाएगी। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Leave a Reply