Ajab GazabIndia

पिता द्वारा लगाए गए आरोपों को जडेजा ने बताया बेबुनियाद, कहा- उनके पास भी कहने के लिए बहुत सी बातें है


रविंद्र जडेजा ने पिता के द्वारा लगाए गये आरोपों को नकारते हुए कहा कि उनकी पत्नी की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है

स्टार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) इस समय हैमस्ट्रिंग चोट से उबर रहे हैं। हालांकि शुक्रवार (9 फरवरी) को उस समय विवादों में आ गए जब उनके पिता अनिरुद्धसिंह ने इंटरव्यू में बताया कि वो अपने बेटे और बहू से काफी नाखुश हैं उनका कहना है कि वो अपने क्रिकेटर बेटे से कोई पैसा नहीं लेते हैं और अपनी दिवंगत पत्नी की पेंशन से अपना घर का खर्च चलाते हैं। अब इन आरोपों पर जड्डू ने भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। जड्डू ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ,एक्स पर एक पोस्ट करते हुए सभी आरोपों का खंडन किया है और इसे उनकी पत्नी रिवाबा की छवि खराब करने का प्रयास बताया है।

जडेजा ने अपनी मातृभाषा गुजराती में जवाब देते एक्स (पहले ट्विटर) पर कहा कि इंटरव्यू में किये गए कमेंट्स बेबुनियाद हैं और उन्हें एकतरफा पेश किया जा रहा है। उनकी पत्नी की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है, जो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से जामनगर सीट से विधायक हैं। जडेजा ने यह भी स्पष्ट किया कि वह इस तथ्य के बावजूद सार्वजनिक रूप से खुलकर बात नहीं करना चाहते कि उनके पास कहने के लिए बहुत सी बातें हैं।

अपने बेटे के साथ अपने खराब रिश्तों के बारे में बात करते हुए अनिरुद्धसिंह ने बताया कि, “मेरे पास गांव में कुछ जमीन है। मैं अपना खर्च अपनी पत्नी की ₹20,000 पेंशन से चलाता हूं। मैं 2बीएचके फ्लैट में अकेला रहता हूं। मेरे पास एक घरेलू सहायिका है जो मेरे लिए खाना बनाती है। मैं अपना जीवन अपनी शर्तों पर जी रहा हूं। मेरे 2 बीएचके फ्लैट में भी, रविंद्र के लिए अभी भी एक अलग कमरा है।”

आगे अनिरुद्ध सिंह ने बताया कि, “कैसे उन्होंने और उनकी बेटी ने बहुत मेहनत की, यहां तक कि रविंद्र जडेजा को उनके क्रिकेट सपने को पूरा करने में मदद करने के लिए चौकीदार की नौकरी भी की। उन्होंने कहा कि जडेजा ने अपने परिवार से नाता तोड़ लिया है। अपना दर्द बयां करते हुए जडेजा के पिता ने कहा, “हमने रविंद्र को क्रिकेटर बनाने के लिए बहुत मेहनत की है। मैं पैसे कमाने के लिए अपने कंधे पर 20 लीटर दूध के डिब्बे ले जाता था। मैंने चौकीदार के रूप में भी काम किया है। हम एक सिंपल बैकग्राउंड से आते हैं। उनकी बहन ने इससे भी अधिक काम किया है मैं। उन्होंने एक मां की तरह उनका ख्याल रखा। हालांकि, उन्होंने अपनी बहन के साथ भी कोई रिश्ता नहीं रखा है।”

आपको बता दे कि गुरुवार (8 फरवरी) को ही जडेजा ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 15 साल पूरे किए। उन्होंने एक वीडियो भी साझा किया था, जिसमें उन्होंने लिखा था, ‘मेरे जीवन के 15 साल सपना’। जडेजा वर्तमान में राजकोट में अपने घरेलू दौर में इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट से पहले अपनी हैमस्ट्रिंग चोट से उबरने के लिए बेंगलुरु में नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) में हैं। वो अब बचे हुए मैचों में खेलेंगे या नहीं यह बहुत जल्द पता चल जाएगा।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply