मध्य प्रदेश के रीवा में अपनी प्रेमिका को बुरी तरह पीटने वाले प्रेमी को उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है. इतना ही नहीं बुलडोजर चलाकर आरोपी के घर को तोड़ दिया गया। पुलिस ने आरोपी पंकज त्रिपाठी के खिलाफ अपहरण, मारपीट सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई की है. साथ ही वीडियो वायरल करने वाले युवक के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इस बीच, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यालय ने ट्वीट किया कि आरोपी पंकज त्रिपाठी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उसके अवैध रूप से बने घर को तोड़ दिया गया है। इससे पहले रीवा के एसडीओपी नवीन तिवारी ने कहा कि पंकज त्रिपाठी अपने एक दोस्त को अपने गांव ले जा रहा था. इसी दौरान दोनों में किसी बात को लेकर विवाद हो गया और युवक ने युवती की बुरी तरह पिटाई कर दी. पुलिस ने बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया है।

 

प्रेमी का प्यार देख सभी लोग सिहर उठे

यह मामला रीवा जिले के मऊगंज का है. वायरल वीडियो में एक युवक अपनी प्रेमिका को बेरहमी से पीटता नजर आ रहा है। वीडियो में प्रेमी द्वारा प्रेमिका की पिटाई होते देख लोग सहम गए। प्रेमी की हालत देख सभी हैरान रह गए। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि प्रेमी-प्रेमिका गांव की सुनसान सड़क पर हैं.

यही बात पंकज को परेशान करती थी

इस वीडियो में देखा और सुना जा सकता है कि प्रेमिका अपने प्रेमी से शादी करने की जिद कर रही थी. उसने कहा, चलो शादी करके चलते हैं। इससे पंकज नाराज हो गया और देखते ही देखते युवती की बेरहमी से पिटाई कर दी।

बच्ची घंटों सड़क किनारे पड़ी रही

पंकज ने पहले लड़की को थप्पड़ मारा, फिर उसे जमीन पर पटक दिया और फिर लात-घूसों से मारता रहा। पंकज बच्ची को तब तक पीटता रहा जब तक वह बेहोश नहीं हो गई। इस घटना के बाद बच्ची घंटों सड़क किनारे बेहोश पड़ी रही। पास खड़ा एक व्यक्ति पूरी घटना को अपने मोबाइल फोन में रिकॉर्ड करता रहा। इसी बीच गांव के कुछ लोग मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी।

थाना प्रभारी श्वेता मौर्य को निलंबित कर दिया गया है

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने तत्काल मौके पर पहुंच कर बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया और धारा-151 के तहत कार्रवाई की. इस वीडियो के वायरल होने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है. इस संबंध में आरोपी पंकज त्रिपाठी के खिलाफ आईटी एक्ट की धारा 294, 323, 366, 506, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है. साथ ही तत्काल कार्रवाई नहीं करने पर थाना प्रभारी श्वेता मौर्य को निलंबित कर दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *