नितिन मनमोहन ने मुंबई के एक अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली, जहां वो 3 दिसंबर से भर्ती थे। नितिन मनमोहन को 3 दिसंबर को दिल का दौरा पड़ा था और उसके बाद से ही वो अस्पताल में भर्ती थे।
बीते कुछ दिनों से सिनेमाजगत से कई बुरी खबरें सामने आ चुकी हैं। ऐसे में अब प्रोड्यूसर नितिन मनमोहन (Nitin Manmohan) से जुड़ी एक दुखद खबर सामने आई है। प्रोड्यूसर नितिन मनमोहन का निधन हो गया है। नितिन मनमोहन ने मुंबई के एक अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली, जहां वो 3 दिसंबर से भर्ती थे। नितिन मनमोहन को 3 दिसंबर को दिल का दौरा पड़ा था और उसके बाद से ही वो अस्पताल में भर्ती थे।


वेंटिलेटर पर थे नितिन मनमोहन

नितिन मनमोहन के निधन की दुखद खबर पर उनके दोस्त व प्रोड्यूसर कलीम खान ने मुहर लगाई है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक कलीम खान ने बताया है कि बीते करीब 15 दिनों से नितिन मनमोहन वेंटिलेटर पर थे और जिंदगी- मौत की जंग लड़ रहे थे। लेकिन आखिरकार वो इस लड़ाई को हार गए और दुनिया को अलविदा कह दिया। याद दिला दें कि हाल ही में खबर सामने आई थी कि उनकी तबीयत में सुधार है और वो जल्दी ही बेहतर हो जाएंगे। लेकिन ऐसा हो न सका।

डायरेक्टर भी थे नितिन मनमोहन

बता दें कि नितिन मनमोहन के बेटे सोहम, दुबई से 3 नवंबर को आ गए थे और तभी से पिता के साथ थे। सोहम, पिता नितिन मनमोहन के साथ अस्पताल में भी थे। बता दें कि नितिन मनमोहन, एक प्रोड्यूसर होने के साथ ही साथ डायरेक्टर और स्टोरी राइटर भी थे। बतौर प्रोड्यूसर नितिन मनमोहन ने बोल राधा बोल (1992), आर्मी (1996), शूल (1999), लव के लिए कुछ भी करेगा (2001), दस (2005), यमला पगला दीवाना (2011) और रेडी (2011) प्रोड्यूस की थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *