Ajab GazabIndia

बाइक मिस्त्री का बेटा बना IAS, दो बार UPSC परीक्षा पास कर लहराया परचम, पहली बार में 426 और फिर आया 89 रैंक

बाइक मिस्त्री का बेटा बना IAS, दो बार UPSC परीक्षा पास कर लहराया परचम, पहली बार में 426 और फिर आया 89 रैंक

UPSC जैसी कठिन परीक्षा एक बार भी पास करना, किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं। ऐसे में कुछ लोग अपने जज़्बे के दम पर एक नहीं, दो बार UPSC पास करके मिसाल बन जाते हैं। हम बात कर रहे हैं ऐसे ही एक मेहनतकश और होनहार इंसान की, बिहार से शिवहर के रहनेवाले प्रिंस।

जो यूपीएससी का एग्जाम पास करके IPS भी बन गए थे, लेकिन प्रिंस का लक्ष्य IAS बनने का था। इसलिए उन्होंने जो ठान लिया वो करके के लिए डटे रहें। प्रिंस ने आईपीएस की ट्रेनिंग लेते हुए दोबारा यूपीएससी का एग्जाम दिया। जहां पहले उनकी रैंक 426 थी, वहीं दूसरे प्रयास में 89 रैंक लेकर उन्होंने मिसाल कायम कर दी।

यह जीत कई मायनों से ख़ास थी क्योंकि एक छोटे से गांव से आने वाले प्रिंस ने कभी अपने हालातों से शिकायत नहीं की। उनके पिता विनय कुमार द्विवेदी एक मोटर मैकेनिक हैं लेकिन कभी अपने बच्चों की शिक्षा में कोई कमी नहीं रखी। प्रिंस की एक बहन और एक भाई भी हैं, बहन ने ग्रेजुएशन पूरी की और उनका भाई दुबई में इंजीनियर है। जबकि प्रिंस ने चुना देश सेवा का रास्ता, साल 2019 में उन्होंने बैरगनिया स्थित दीनदयाल उपाध्याय यूनिवर्सिटी से भूगोल में ग्रेजुएशन की थी।

इसके बाद दिल्ली पहुंचकर UPSC की तैयारी में लग गए। जब उन्होंने तीसरे अटैंप्ट में यूपीएससी का एग्जाम पास किया तब परिवार बहुत खुश था, लेकिन प्रिंस ने और आगे बढ़ने की अपनी जिद को जारी रखा।
आज उनकी सफलता देश के हर युवा को सिखाती है कि किसी भी हालात में अपने लक्ष्य को पूरा किए बिना पीछे नहीं हटना ही, सच्ची जीत है।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply