Ajab Gazab

बिहार और यूपी के बीच सात-सात गांवों की अदला-बदली होगी, CM नीतीश ने इन गांवों का नाम किया जारी!..

बिहार और यूपी के बीच सात-सात गांवों की अदला-बदली होगी, CM नीतीश ने इन गांवों का नाम किया जारी

PATNA : बिहार और यूपी के बीच सात-सात गांवों की होगी अदला-बदली, उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के सात गांव होंगे बिहार के जबकि बगहा अनुमंडल के सात गांव यूपी के कहलाएंगे, आयुक्त व डीएम के पत्र पर प्रस्तावित गांवों का सीमांकन कराया जा रहा है। जल्द ही अदला-बदली के लिए गांवों का प्रस्ताव तैयार कर डीएम को भेज दिया जाएगा।-राजीव रंजन श्रीवास्तव सीओ बगहा-2, पश्चिम चंपारण
बिहार और यूपी के बीच सात-सात गांवों की अदला-बदली होगी। यूपी के कुशीनगर जिले के सात गांव बगहा के होंगे, जबकि बगहा के सात गांव यूपी के कहलाएंगे। इसको लेकर सहमति बनने के बाद दोनों राज्य केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेज रहे हैं। केंद्र सरकार का अनुमोदन मिलते ही गांवों की अदला-बदली की प्रकिया पूरी हो जाएगी। तिरहुत प्रमंडल के आयुक्त ने इसको लेकर डीएम कुंदन कुमार को पत्र भेज कर यूपी की सीमा से सटे बिहार के सात गांवों का प्रस्ताव तैयार करने का निर्देश दिया है।
आयुक्त ने अपने पत्र में कहा है कि गंडक पार के पिपरासी प्रखंड का बैरी स्थान, मंझरिया, मझरिया खास, श्रीपतनगर, नैनहा, भैसही व कतकी गांव में जाने के लिए प्रशासन सहित ग्रामीणों को यूपी होकर आना-जाना पड़ता है। यूपी के रास्ते इस गांवों में जाने से प्रशासनिक परेशानी होती है। साथ ही समय भी अधिक लगता है। इससे विकास योजनाओं के संचालन में प्रशासनिक अधिकारियों को परेशानी होती है। यहां के लोगों को प्राकृतिक आपदा के वक्त राहत पहुंचाने में देरी होती है। यही हाल यूपी के कुशीनगर जिले के मरछहवा, नरसिंहपुर, शिवपुर, बालगोविन्द, बसंतपुर, हरिहरपुर व नरैनापुर गांव का है। ये गांव बिहार के बगहा पुलिस जिले से सटे हैं। यहां यूपी प्रशासन को जाने के लिए नेपाल और बिहार की सीमा से होकर जाना पड़ता है। यूपी प्रशासन को इन गांवों में पहुंचने के लिए 20 से 25 किमी की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ती है। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Leave a Reply