India

बिहार के इन दो स्टेशनों के बीच जल्द चलेंगी इलेक्ट्रिक ट्रेन, साथ ही मिल सकता है नये ट्रेन का सौगात

कटिहार-जोगबनी रेल लाइन पर इलेक्ट्रिक ट्रेन जल्द ही दौड़ेगी। 108 किमी रेलवे लाइन के विद्युतीकरण का कार्य मार्च तक मुकम्मल हो जाएगा। विद्युतीकरण कार्य पूर्ण होने के बाद सीमांचल को नई ट्रेनों की सौगात मिलने की भी आस है। अभी एक्सप्रेस ट्रेन के नाम पर दिल्ली जाने वाली सीमांचल एक्सप्रेस के अलावा हाटे बाजारे और जोगबनी-कोलकाता एक्सप्रेस ही है। खास बात यह है कि इलेक्ट्रिक ट्रेन चलने से लंबी दूरी से लेकर छोटी दूरी की यात्रा में समय की भी बचत हो जाएगी।

पूर्णिया से लोकल ट्रेन से कटिहार और जोगबनी के बीच की दूरी भी कम हो जाएगी। दस मिनट लोग पहले ही गंतव्य तक पहुंच जाएंगे। इधर, पूर्णिया कोर्ट रेलवे स्टेशन से मधेपुरा तक भी विद्युतीकरण का कार्य जोर-शोर से चल रहा है। जनवरी से फरवरी माह तक यह कार्य भी मुकम्मल हो जाएगा। इसके बाद पूर्णिया से मधेपुरा और सहरसा के बीच भी इलेक्ट्रिक ट्रेनें चलेंगी जिससे लोगों का आवागमन सुगम हो जाएगा। इस रूट पर भी नई ट्रेनों का लोग शिद्दत के साथ इंतजार कर रहे हैं। बता दें कि कटिहार-जोगबनी रेल खंड पर पहले छोटी लाइन थी। एक दशक पहले बड़ी लाइन बनी। इसी तरह पूर्णिया-सहरसा रूट पर भी बड़ी लाइन का निर्माण एक दशक पहले हुआ।

दो जोड़ी लोकल, तीन जोड़ी एक्सप्रेस

पूर्णिया को ट्रेनों की कमी से जूझना पड़ रहा है। पूर्णिया रेलवे जंक्शन होकर अभी दो जोड़ी लोकल और तीन जोड़ी एक्सप्रेस ट्रेनें ही चल रही हैं। सीमांचल एक्सप्रेस रोज पूर्णिया होकर दिल्ली तक जाती हैं। हाटे बाजारे सप्ताह में दो दिन सहरसा से पूर्णिया होते हुए कोलकाता जाती है। जोगबनी-कोलकाता भी सप्ताह में दो दिन ही हैं। कटिहार-जोगबनी के बीच दो जोड़ी ही लोकल ट्रेनें हैं। कोरोना से पहले सात जोड़ी ट्रेनें चलती थी।

सामान की ढुलाई में भी सहूलियत

विद्युतीकरण कार्य पूर्ण होने के बाद रैक प्वाइंट पर सामानों की आवाजाही में भी अधिक वक्त नहीं लगेगा। पूर्णिया में सरसी, रानीपतरा, गढ़बनैली समेत अन्य रेलवे स्टेशनों पर बने रैक प्वाइंट से सामानों को भेजने और लाने में सुविधा होगी। विद्युतीकरण कार्य पूरा होने के बाद गुड्स ट्रेनें भी दौड़ेगी। पूर्णिया कोर्ट रेलवे स्टेशन पर फुटओवर ब्रिज का भी यात्रियों के अलावा ट्रैक पार करने वाले लोगों को फायदा हो रहा है। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Leave a Reply