Kangra

बिहार के इन 8 जिलों में शुरू हुई बालू बंदोबस्ती की प्रक्रिया सस्ती होगी बालू !!

 

बिहार में लगातार बढ़ रही महंगाई के बीच बिहार के लोगों के लिए एक खुशी की खबर सामने आई है। बता दें कि लंबे समय से अटकी बिहार में बालू की स्थाई बंदोबस्ती की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। बताया जा रहा है कि पहले चरण में राज्य के 8 जिलों में करीबन 150 बालू घाटों पर बालू की बंदोबस्ती की प्रक्रिया शुरू की गई है जिसके बाद यह कयास लगाए जा रहे हैं कि आने वाले समय में लोगों को सस्ते दामों पर बालू उपलब्ध होगा। जिसके बाद बिहार में हो रही बालू किल्लत की समस्या अब खत्म होगी।

जानकारी के अनुसार, बिहार में पटना जिला सहित 8 जिले के लगभग 150 बालू घाटों की बंदोबस्ती प्रक्रिया पूरी हो गयी है। इन आठ जिलों में पटना, भोजपुर, सारण, औरंगाबाद, रोहतास, गया, जमुई और लखीसराय जिला शामिल हैं। यह बिहार राज्य खनन निगम लिमिटेड द्वारा इ-नीलामी प्रक्रिया के जरिए बंदोबस्तधारियों का चयन कर लिया गया है। जिलों के पर्यावरणीय स्वीकृति प्राप्त बालू घाटों का संचालन होना है। बता दे की जल्द ही कागजी प्रक्रिया पूरा होते ही अगले सप्ताह से बालू खनन शुरू हो जाएगा। राज्य वासियों को उचित दर पर बालू उपलब्ध होगा। वहीं राज्य के लगभग 100 बालू घाटों की इ-नीलामी की प्रक्रिया 10 दिसंबर से शुरू होने की उम्मीद है। 

    Shimla, Mandi, Kangra, Chamba, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

Leave a Reply