Himachal

बिहार के युवाओं की नौकरी के लिए बिहार सरकार ने टाटा टेक्नोलॉजी से किया करार, ये होंगे लाभ ..

 

बीते मंगलवार बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक संपन्न हुई। कैबिनेट बैठक में कुल 17 प्रस्ताव पर मोहर लगाई गई है इसी बीच इस कैबिनेट मीटिंग में सबसे बड़े आकर्षण का केंद्र रहा कि बिहार सरकार ने अगले साल बिहार के मेट्रिक पास युवाओं के लिए बड़ी पहल करने जा रही है।

दरअसल बिहार सरकार टाटा टेक्नोलॉजी के साथ 149 आईआईटी के आधुनिकरण के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है जिसके बाद अगले साल बिहार में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। बताया जा रहा हैं की बिहार सरकार ने 4,606 करोड़ रुपये खर्च होगें।

इसके तहत बिहार सरकार ने 149 राज्य के अधीन औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों यानी आईटीआई के आधुनिकीकरण और उत्कृष्टता केंद्रों के उन्नयन के लिए 4,606 करोड़ रुपये से अधिक की एक परियोजना को स्वीकृति प्रदान कर दी गई हैं। इस संबध में बिहार के श्रम संसाधन मंत्री जीवेश मिश्रा बताया कि अब राज्य के सभी सरकारी आईटीआई में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने की योजना को कैबिनेट से मंजूरी मिल गई है।

कैबिनेट की बैठक हुई,उसमें युवाओं के लिए बहुत ही अहम फैसला लिया गया है जो युवाओं के लिए कारगर साबित होगा और बिहार में रोजगार के अवसर बढ़ेगें। यह काम सात निश्चय योजना पार्ट-2 के अंतर्गत सभी सरकारी आईटीआई में गुणवत्ता बढ़ाने को लेकर किया गया जिसके लिए बिहार सरकार ने टाटा टेक्नालॉजीज के साथ करार किया गया है।

बता दे की इसके पहले चरण में राज्य में संचालित 60 सरकारी आईटीआई को अपग्रेड किया जाएगा, जिससे छात्रों को नौकरी भी आसानी से मिलेगी। 20 कंपनियां टाटा टेक के साथ मिलकर काम करेगी और बिहार में 60 आईटीआई को पहले फेज में चिन्हित किया गया है। वही इसमें मुख्य रूप से वेल्डिंग व औद्योगिक रोबोटिक्स, इलेक्ट्रिक वाहन प्रशिक्षण, आईओटी और डिजिटल इंस्ट्रूमेंटेशन एवं डिजाइन, सभी प्रकार की मरम्मत और रख रखाव, जैसे ट्रेड का पाठ संचालित किया जाएगा।

इसके साथ साथ टाटा की टीम हर सेंटर पर अधिकारी की तैनाती करेंगे, जिससे युवाओं के कौशल का विकास होगा। सभी सरकारी आईटीआई में 10 हजार स्क्वॉयर फीट में यह सेंटर बनाया जाएगा। इस परियोजना में राज्य सरकार 12% राशि लगाएगी और टाटा इस योजना पर कुल 88% राशि खर्च करेगी। वही इसके बाद यह माना जा रहा हैं की बिहार सरकार और टाटा टेक्नोलॉजी के बीच हुआ यह करार बिहार के छात्रों का भविष्य संवार सकता है। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Shimla, Mandi, Kangra, Chamba, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

Leave a Reply