Chamba

बिहार के स्कूलों में बच्चों को लेकर अलर्ट, ओमिक्रॉन वैरिएंट पर PVT विद्यालय में गाइडलांइस जारी …!

 

PATNA : ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर बिहार के स्कूलों में अलर्ट:कोरोना से बचाव के लिए प्राइवेट स्कूलों ने खुद बनाई गाइडलाइन, जानिए पूरी डिटेल्स, बैठक में 1,000 से अधिक स्कूल हुए शामिल, पानी का बोतल और लंच नहीं करना है शेयर

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए बिहार के स्कूलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। स्टूडेंट्स के मास्क और पानी के बोतल के साथ लंच बॉक्स पर नजर रखने का निर्देश दिया गया है। बच्चों की सेहत सर्दी खांसी या बुखार के साथ उनके परिवार के बारे में भी जानकारी ली जाएगी। यह सरकार के निर्देश पर नहीं, बल्कि प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन की बैठक में तय किया गया है। स्कूल 18 माह से बर्बाद हुई पढ़ाई को अब और प्रभावित नहीं करना चाहते हैं, इस कारण खुद से अलर्ट मोड पर हो गए हैं।

प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने स्कूलों के प्रिंसिपल और मालिक से वर्चुअली मीटिंग की। इसमें बिहार के 1,000 से अधिक स्कूल शामिल हुए। इसमें कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं।

बैठक के बाद अहमद ने बताया, ’18 माह तक स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई बाधित रही है, इससे स्टूडेंट्स काफी पीछे हो गए हैं। कोरोना के कारण शिक्षा काफी प्रभावित हुई है। कोरोना ऐसा है कि अब यह जाने वाला नहीं है। इससे बचाव के साथ ही लड़ा जा सकता है। अगर हर इंसान सावधान हो जाए और कोरोना की आवश्यक गाइडलाइन का पालन करें तो बचा जा सकता है।’

अहमद की ओर से जारी निर्देश में बच्चों को हर हाल में मास्क पहनकर आना, पानी की बोतल के साथ लंच बॉक्स शेयर नहीं करने देने का जिक्र है। बच्चों के घर में आने-जाने वाले लोगों के साथ उनके घर वालों की ट्रैवल हिस्ट्री पर भी नजर रखनी है। स्कूलों में साफ-सफाई का भी ध्यान रखना है। कहीं से भी कोई चूक नहीं हो, इसके लिए गार्जियंस को भी मैसेज के जरिए मोबाइल पर अलर्ट करने का निर्णय लिया गया है। सुरक्षा को लेकर हर तरह से एहतियात बरतना होगा और जो गार्जियन वैक्सीन नहीं लिए हैं उन्हें हर हाल में वैक्सीनेशन कराना होगा। कोरोना से सिर्फ सावधानी और वैक्सीन ही बचा सकती है।

प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद का कहना है, ‘स्कूल में प्रेयर तो होता ही है। कोरोना को लेकर विशेष तैयारी है। अब बच्चों से कहा जा रहा है कि वह हर दिन स्कूल में प्रेयर करें, ताकि कोरोना के खतरे से बचा जा सके।’ उनका कहना है, ‘स्कूलों ने बैठक में इस निर्णय पर सहमति जताई है और कहा है कि सरकार की जैसी गाइडलाइन आती है उसका पालन किया जाएगा, लेकिन अभी के समय में स्कूल के स्तर से सुरक्षा एवं बचाव को लेकर यही तैयारी है। इस व्यवस्था पर बचाव के लिए काम करना है।’ 

    Shimla, Mandi, Kangra, Chamba, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

Leave a Reply