Shimla

बिहार के 62 हज़ार में 16000 लोगों की लगी लॉटरी, राज्य सरकार देगी 10 लाख रुपए ;

 

बिहार में कुल 16000 लोगों की लॉटरी लगी है और अब उन्हें बिहार सरकार से 10 लाख रुपये मिलेंगे. आपको यकीन नहीं हो रहा है क्या ? लेकिन, यह बिलकुल सही खबर है. दरअसल बिहार सरकार के मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत बिहार में 16 हजार लाभार्थियों का चयन किया गया है. कम्प्यूटराइज्ड लॉटरी के जरिए इन सभी 16000 लाभार्थियों का चयन हुआ है, जिन्हें उद्यमी योजना के तहत बिहार में उद्यम शुरु करने के लिए 5 लाख रुपये लोन और 5 लाख रुपये अनुदान के रुप में दिया जाएगा. इस तरह हर चयनित उद्यमी को राज्य सरकार की तरफ से 10 लाख रुपये मिलेंगे.

बता दें, मुख्यमंत्री उद्यमी योजनाओं के लाभार्थियों के चयन के लिए चयन समिति की बैठक सुबह 11 बजे पटना के गांधी मैदान स्थित आईडा के सभागार में शुरु हुई और दोपहर तक 16000 लाभार्थियों के चयन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई. लाभार्थियों का चयन पूरी पारदर्शिता से करने का दावा किया गया है. पूरी चयन प्रक्रिया का लाइव प्रसारण किया गया है ताकि कोई भी और कहीं से भी चयन प्रक्रिया को देखकर तसल्ली कर सकें.

कम्प्यूटराईज्ड रैंडमाइजेशन प्रोसेस के जरिए हुआ चयन

बताया जाता है कि मुख्यमंत्री उद्यमी योजनाओं के 16000 लाभार्थियों के चयन के लिए पहले जिलों में प्राप्त कुल 62,324 आवेदनों की दो स्तर पर स्क्रूटनी की गई. सभी तरह से योग्य पाए गए कुल 42,477 आवेदनों के डाटा को चयन प्रक्रिया प्रारंभ होने से कुछ देर पहले ही एऩआईसी द्वारा तैयार विशेष सॉफ्वेयर में हस्तांतरित किया गया. फिर कम्प्यूटराईज्ड रैंडमाइजेशन प्रोसेस के जरिए सभी वर्गों के योग्य आवेदनों के स्थान को सूची में बदली गई और फिर कम्प्यूटराईज्ड लॉटरी के जरिए 16000 सफल अभ्यर्थियों का चयन हुआ. इन सभी अभ्यर्थियों के स्थल निरीक्षण के बाद इनसे डीपीआर लिया जाएगा और पूरी जांच के बाद सरकार के द्वारा मिलने वाली लोन की राशि इन्हें दी जाएगी.

तो 1 लाख 60 हजार लोगों को मिल जाएगा रोजगार’

मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति, जनजाति और अति पिछड़ा उद्यमी योजना, मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना और मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना तीनों उद्यमी योजनाओं के सभी चयनित और सफल 16000 अभ्यर्थी को उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि सभी सफल अथ्यर्थी आऩे वाले दिनों में बड़ा उद्यमी बनकर राज्य की तकदीर तस्वीर संवारने का काम करेंगे . उऩ्होंने कहा कि सभी 16000 अभ्यर्थी अगर कम से कम 10 को भी अपने उद्यम में रोजगार देने में सफल रहते हैं तो एक साल में ही बिहार में 1 लाख 60 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा. उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि वैसे भी इस योजना के तहत हर साल बिहार में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए हजारों आवेदकों को लोन और अनुदान सतत प्रक्रिया के तहत मिलेगा और इसी योजना से आने वाले कुछ सालों में लाखों रोजगार पैदा होंगे.

अगले साल फिर कर सकेंगे आवेदन

उद्योग विभाग का दावा है कि चयन प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी हो, ये सुनिश्चित करने के लिए विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी के साथ बिहार के सभी प्रमुख उद्योग संगठनों, महिला उद्योग संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद रहे औऱ लाइव कैमरे के सामने चयन प्रक्रिया पूरी की गई. जिन आवेदकों का आवेदन निरस्त हुआ है, उन्हें भी निराश होने की जरुरत नहीं है. वो अगले साल फिर से आवेदन कर सकेंगे. इन्हे भी जरूर पढ़ें

Shimla, Mandi, Kangra, Chamba, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

Leave a Reply