Shimla

बिहार में बदला ट्रफिक रूल, चेकिंग के दौरान पुलिस से बचना है तो अपनाएं ये तरीका, नहीं कटेगा चालान;

 

वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस से बचना है तो अपनाएं ये तरीका, नहीं कटेगा चालान, mParivahan ऐप का भी खूब क्रेज, दोनों पर डाटा स्टोर करें : बिहार में पुलिस अगर आपको वाहन जांच के दौरान पेपर के लिए रोकती है, तो अब आपको ये नहीं कहना पड़ेगा कि कागज घर पर छूट गए हैं. अब कागज पास में नहीं होने की वजह से पुलिस आपका चालान नहीं काट पाएगी. आप डिजिटल पेपर दिखा कर आराम से जा सकते हैं. दरअसल, नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान भारत में डिजिटलाइजेशन पर जोर दिया है. इसी कड़ी में डिजिलॉकर (DigiLocker) की शुरुआत की गई है, जो एक तरीके का वर्चुअल लॉकर है, जिसमें लोग अपने सारे कागजात को रख सकते हैं और जरूरत पड़ने पर पुलिस या किसी अन्य को दिखा सकते हैं.

वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस से बचने के लिए एक और ऐप mparivahan भी है. इसकी शुरुआत भी केंद्र सरकार ने ही की है. ये ऐप ऑल-इंडिया RTO व्हीकल रजिस्ट्रेशन नंबर सर्च के लिए डिजाइन किया गया है. ये ऐप एनआईसी की ओर से बनाया गया है, जो आपकी व्हीकल की डिटेल्स जैसे- इंश्योरेंस वैलिडिटी, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और ड्राइविंग लाइसेंस को स्टोर रखता है. इन मामलों में ये भी खूब कारगर है.

अब सवाल उठता है कि डिजिलॉकर की सुविधा का फायदा उठाएं कैसे? तो यह सुविधा पाने के लिए लोगों के पास केवल आधार कार्ड होना चाहिए. जिस तरह आप बैंक के लॉकर में अपने गहने आदि को सुरक्षित रखते हैं, ठीक वैसे ही डिजिटल लॉकर डॉक्यूमेंट्स को सुरक्षित रखने का एक जरिया है. बस फर्क इतना है कि यहां आप खुद ऑनलाइन अपने डॉक्यूमेंट्स को सेव करते हैं. यह ऐप iOS और एंड्रॉयड, दोनों डिवाइस के लिए उपलब्ध है. ऐसे में जब भी आपसे व्हीकल की डिटेल्स मांगी जाए या फिर आपसे कागज दिखाने को कहा जाए तो आप इस ऐप को खोलकर सॉफ्ट कॉपी भी दिखा सकते हैं, जिससे पुलिस आपको नहीं रोकेगी.

बता दें कि mParivahan एक ऐसा ऐप है जो प्रामाणिक वर्चुअल डीएल (ड्राइविंग लाइसेंस) और आरसी (पंजीकरण प्रमाणपत्र) बनाता है. इस ऐप के जरिए आप नए ड्राइविंग लाइसेंस के लिए भी आवेदन कर सकते हैं. इसके बाद केवल मॉक टेस्ट ही पास करना जरूरी है. इसका इंटरफेस काफी सिंपल है, ऐसे में इसे चलाना बेहद आसान है. यह भी iOS और Android दोनों यूजर्स के लिए ही उपलब्ध है. इन्हे भी जरूर पढ़ें

Shimla, Mandi, Kangra, Chamba, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

Leave a Reply