Himachal

ब्राह्मण भोजन कराने वाले मांझी, उनकी पत्नी, बेटी-बहू समेत 18 को हुआ कोरोना ..

 

PATNA-जीतन राम मांझी, उनकी पत्नी, बेटी-बहू समेत 18 की रिपोर्ट आई पॉजिटिव; 7 दिन पहले कराया था ब्राह्मण-दलित भोज : बिहार में कोरोना की रफ्तार लगातार तेजी से बढ़ रही है। सोमवार को पटना में 159 नए केस सामने आए। वहीं कोरोना ने सूबे के जनीतिक गलियारों में दस्तक दे दी है। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के साथ उनका परिवार कोरोना पॉजिटिव हो गया है। मांझी ने 7 दिन पहले अपने पटना स्थित आवास पर ब्राह्मण-दलित भोज कराया था। वहीं आज CM नीतीश कुमार के जनता दरबार में पहुंचे 14 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इधर, मुंगेर में सोमवार को कोरोना के 10 नए केस सामने आए।
पूर्व CM मांझी, उनकी बेटी- बहू सहित 18 संक्रमित
पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। उनके साथ ही मांझी की पत्नी शांति देवी, बेटी पुष्पा मांझी, बहू दीपा मांझी, पीए गणेश पंडित सहित 18 संक्रमित हो गए हैं। सभी की कोरोना रिपोर्ट RTPCR जांच के बाद सामने आई है। सभी का सैंपल रविवार को जांच के लिए लिया गया था।
बता दें कि पूर्व सीएम मांझी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से पहले उन्होंने एक ट़्वीट किया। उन्होंने लिखा- ‘बढते हुए कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए मा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी से आग्रह है कि जनता दरबार कार्यक्रम को फिलहाल स्थगित रखा जाए, राज्यहित में यह कारगर फैसला होगा।
3-4 दिनों से बीमार थे पूर्व सीएम मांझी
दरअसल, पूर्व मुख्यमंत्री की बीते 3 से 4 दिनों से तबीयत खराब थी। उन्हें सर्दी, खांसी और शरीर में दर्द की शिकायत थी। परिवार के अन्य सदस्यों में भी इस तरह के लक्षण होने के बाद सभी की जांच हुई। इसके बाद उनके पॉजिटिव होने की बात सामने आई है। मांझी के साथ ही उनका पूरा परिवार फिलहाल पैतृक आवास गया जिले के खीजरसराय प्रखंड के महकार में है। सभी होम क्वारंटाइन में हैं। और सभी की स्थिति स्थिर बताई जा रही है ।
7 दिन पहले ब्राह्यण-दलित में भोज में परोसा था खाना
जीतन राम मांझी का पॉजिटिव होना इसलिए भी अहम है क्योंकि उन्होंने 7 दिन पहले ही अपने पटना स्थित आवास पर दलित-ब्राह्मण भोज कराया था। उनके इस भोज में बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे। पार्टी के नेताओं के साथ कार्यकर्ता और आमलोग भी शामिल हुए थे। भोज में जीतनराम मांझी ने ना सिर्फ नेताओं के साथ बैठकर खाना खाया था, बल्कि भोज में आए ब्राह्मणों को अपने हाथों से खाना भी परोसा था इन्हे भी जरूर पढ़ें

Shimla, Mandi, Kangra, Chamba, बिहार, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, कानपुर, दरभंगा, समस्तीपुर, नालंदा, पटना, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, पटना, नालंदा, अररिया, अरवल, औरंगाबाद, कटिहार, किशनगंज, कैमूर, खगड़िया, गया, गोपालगंज, जमुई, जहानाबाद, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, पूर्वी चंपारण, बक्सर, बांका, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, मधुबनी, मधेपुरा, मुंगेर, रोहतास, लखीसराय, वैशाली, शिवहर, शेखपुरा, समस्तीपुर, सहरसा, सारण सीतामढ़ी, सीवान, सुपौल, #बिहार, #मुजफ्फरपुर, #पूर्वी चंपारण, #कानपुर, #दरभंगा, #समस्तीपुर, #नालंदा, #पटना, #मुजफ्फरपुर, #जहानाबाद, #पटना, #नालंदा, #अररिया, #अरवल, #औरंगाबाद, #कटिहार, #किशनगंज, #कैमूर, #खगड़िया, #गया, #गोपालगंज, #जमुई, #जहानाबाद, #नवादा, #पश्चिम चंपारण, #पूर्णिया, #पूर्वी चंपारण, #बक्सर, #बांका, #बेगूसराय, #भागलपुर, #भोजपुर, #मधुबनी, #मधेपुरा, #मुंगेर, #रोहतास, #लखीसराय, #वैशाली, #शिवहर, #शेखपुरा, #समस्तीपुर, #सहरसा, #सारण #सीतामढ़ी, #सीवान, #सुपौल,

Leave a Reply