India

भूलकर भी उधार ना दें ये 6 चीजें, इससे रूठ जाती है अन्नपूर्णा मां, आने लगती है दरिद्रता…

भूलकर भी उधार ना दें ये 6 चीजें, इससे रूठ जाती है अन्नपूर्णा मां, आने लगती है दरिद्रता…
भूलकर भी उधार ना दें ये 6 चीजें, इससे रूठ जाती है अन्नपूर्णा मां, आने लगती है दरिद्रता…हमारी भारतीय संस्कृति में हमे दूसरों की मदद करने की सलाह दी जाती है। अक्सर आस-पड़ोस में रहने वाले लोग जरूरत पड़ने पर एक दूसरे की मदद कर देते हैं। कई बार हमे अपने पड़ोसियों को मदद के लिए कुछ चीजें उधार भी देनी पड़ती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि रसोई की कुछ चीजें ऐसी भी होती हैं जिन्हें उधार देने से बचना चाहिए। यदि इन्हें दिया तो घर में दरिद्रता आने लगती है।
नमक: नमक के बिना हम किसी भी व्यंजन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। इसके बिना हर डिश का स्वाद अधूरा रहता है। इसलिए कोशिश यही करनी चाहिए कि घर में नमक कभी खत्म न हो। क्योंकि ज्योतिष शास्त्र की माने तो सूर्यास्त के बाद किसी को भी नमक उधार नहीं देना चाहिए। यदि ऐसा किया तो आपके घर गरीबी दस्तक दे सकती है।

लहसुन और प्याज: कई घर ऐसे हैं जहां रोज लहसुन (Garlic) और प्याज (Onion) का तड़का लगता है। ये दोनों ही चीजें सेहत की दृष्टि से भी लाभकारी होती है। हालांकि ज्योतिष शास्त्र की माने तो सूर्यास्त होने के बाद किसी से भी लहसुन-प्याज का लेन देन नहीं करना चाहिए। इससे मां अन्नपूर्णा नाराज हो जाती है। फिर घर में पैसों का खर्च बढ़ जाता है। वहीं लहसुन और प्याज पर केतु ग्रह का प्रभाव भी होता है। इसलिए इसे उधार देना हानिकारक हो सकता है।

हल्दी: हल्दी का इस्तेमाल भोजन और धार्मिक कार्य दोनों में किया जाता है। इसके आयुर्वेदिक महत्व भी होते हैं। ज्योतिष शास्त्र कहता है कि आपको कभी भी किसी को हल्दी उधार नहीं देना चाहिए। किसी से हल्दी मांगने से भी बचना चाहिए। दरअसल हल्दी का कनेक्शन देव गुरु बृहस्पति से होता है। यदि इसे किसी को उधार दिया तो नौकरी-बिजनेस, करियर, आर्थिक और वैवाहिक दिक्कतों को झेलना पड़ता है।

दूध: दूध भी हर घर में इस्तेमाल होता है। ये सेहत के लिए अच्छा होता है। इसमें कैल्शियम भी भरपूर होता है। इससे हड्डियां मजबूत बनती हैं। ज्योतिष के अनुसार दूध का संबंध चंद्र ग्रह से होता है। यह चंद्र अंधेरा होने पर धरती पर रौशनी देता है। ऐसे में सूर्यास्त के बाद दूध को कभी उधार नहीं देना चाहिए। फिर किसी को चाय की कितनी भी तड़प लगी हो। क्योंकि दूध उधार देने से चंद्र ग्रह दुखों के रूप में अपना प्रकोप बरसाता है।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply