Ajab Gazab

शक में पत्नी के प्राइवेट पार्ट को छेदकर जड़ दिया ताला! फिर…

पुणे: महाराष्ट्र के पुणे जिले में चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक नेपाली युवक ने अपनी पत्नी के चरित्र पर शक करते हुए उसको तालिबानी सजा दी। पति ने उसके प्राइवेट पार्ट पर ताला लगा दिया। इसके लिए उसने कथित तौर पर दो छेद कर दिए और प्राइवेट पार्ट को ‘लॉक’ कर दिया। शुक्रवार को पिंपरी-चिंचवड़ में वाकड पुलिस स्टेशन के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। फिलहाल पुलिस ने 30 साल के आरोपी उपेन्द्र हुडाके को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसकी 28 साल की पत्नी को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी सर्जरी कराई गई है। डॉक्टरों ने उसकी हालत अब स्थिर बताई है।

कब हुई घटना?
वकाड पुलिस स्टेशन के जांच अधिकारी बालाजी मेटे ने बताया कि कपल नेपाल के एक गांव के रहने वाले हैं। वे रोजगार की तलाश में मई की शुरुआत में पुणे आये थे और वाकड के पास उपेन्द्र हुडाके की बहन और उसके परिवार के साथ रह रहे थे। यह भयावह घटना 11 मई की रात को हुई, जब उपेन्द्र हुडाके भारी नशे की हालत में घर आया और अपनी पत्नी के साथ दुर्व्यवहार और मारपीट की।

पहले पत्नी से की मारपीट
जांच अधिकारी बालाजी मेटे ने बताया कि उपेन्द्र हुडाके ने उसे रसोई के चाकू से धमकाया और उस पर उसके प्रति बेवफाई करने का आरोप लगाया। जिसे उसने अस्वीकार कर दिया। उस पर विश्वास न करते हुए उपेन्द्र हुडाके ने उसे पीटना और लात मारना जारी रखा। उसे चाकू से डराया और धमकाया। इसके बाद उसे फर्श पर स्टूल से बांध दिया, जबकि वह लेटी हुई थी और उससे रुकने की विनती कर रही थी।

प्राइवेट पार्ट के किनारों को छेद कर लगाया ताला
जांच अधिकारी बालाजी मेटे ने बताया कि अपने भयावह हमले को जारी रखते हुए उपेन्द्र हुडाके ने एक तेज ब्लेड लिया। उसके प्राइवेट पार्ट के दोनों किनारों पर दो छेद किए। इसके बाद लोहे के पेंच लगाए और उस पर एक छोटा सा पीतल का ताला लगा दिया। असहाय महिला खून से लथपथ पड़ी थी और मदद के लिए चिल्ला रही थी। इस पर उसने हैवानियत दिखाते हुए ताले की चाबी भी फेंक दी।

आसपास के लोग मदद को पहुंचे
जांच अधिकारी बालाजी मेटे ने बताया कि महिला की आवाज सुनकर प्रवासी मजदूर और उनके पड़ोसी ललित परिहार घर की ओर दौड़े। वहां उसने बुरी तरह से घायल महिला को फर्श पर दर्द से कराहते हुए देखा। उन्होंने मदद के लिए वहां रहने वाले कुछ अन्य नेपालियों सहित आसपास के कई लोगों को बुलाया। सभी उपेन्द्र हुदाके के घर पहुंचे और उन्होंने महिला को अर्ध-चेतन अवस्था में नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया।

अस्पताल में महिला की सर्जरी
जांच अधिकारी बालाजी मेटे ने बताया कि अस्पताल में लोहे के पेंच और ताले को हटाने और गहरे घावों को सिलने के लिए महिला की आपातकालीन सर्जरी की गई। बताया गया कि पांच दिन बाद गुरुवार को जब उसकी हालत बेहतर हुई तो महिला ने हिम्मत जुटाई और वाकड पुलिस स्टेशन में अपने पति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

आरोपी अरेस्ट
मेटे ने कहा कि हमने क्रूर अपराध का तुरंत संज्ञान लिया और आरोपी हुडके को गिरफ्तार कर लिया। उसे वाकाड अदालत के समक्ष पेश किया गया, जिसने उसे दो सप्ताह की मजिस्ट्रेट हिरासत दी है। मेटे ने कहा कि उपेन्द्र हुडाके पर आईपीसी की धारा 323, 506(2) और अन्य के तहत आरोप लगाए गए हैं और मामले में आगे की जांच जारी है.

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply