आप को बता दें कि हमारे दैनिक जीवन में घर से लेकर बाहर तक वास्तु की अहम भूमिका होती है। घर के वास्तु में रसोई का सबसे ज्यादा महत्व होता है। रसोई एक ऐसा स्थान है, जहां से आपकी सेहत बनती है। ऐसे में स्वास्थ्य ही बडा धन है।

वास्तु शास्त्र में रसोई को लेकर कई सारे नियम बनाए गए है। आप अपने दिन की शुरुआत में जो साम्रगी, जीव या व्यक्ति देख लेते है। आप का पूरा दिन उसी के अनुकूल रहता है। इसलिए दिन की शुरुआत हमेंशा मंगलकारी व्यक्ति, घर की शुभ साम्रगी, जीव या किसी दृश्य को देखकर ही करनी चाहिए।

घर में रसोई की दिशा और दशा है होती है महत्वपूर्ण

बता दें कि रसोई आपके घर का मुख्य हिस्सा होती है। ऐसे में अगर रसोई में कोई वास्तुदोष पैदा होता है तो इसका असर सिर्फ आप पर नहीं बल्कि पूरे परिवार के लोगों पर पडता है। इसलिए वास्तुशास्त्र में रसोईघर का सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण माना गया है।

आप सुबह उठते ही रसोईघर में प्रवेश करती है। ऐसे में आपको कुछ चीजों को बिल्कुल नहीं देखना चाहिए वरना आपका सारा दिन खराब हो सकता है। किचन की कुछ चीजों को सुबह देखने से मां अन्नपूर्णा नाराज हो जाती है।

इससे घर में पैसों की कंगाली भी आने लगती है। इसीलिए रसोई की दिशा, दशा दोनों पर ध्यान देना आवश्यक बताया गया है। यदि रसोई गलत दिशा में है तो ये वास्तुदोष छोड देता है। तो आइए जानते है कि आपको रसोई में सुबह क्या नहीं देखना चाहिए।

रसोई में इन मुख्य बातों का रखें ख्याल

1. घर बनवाते या खरीदते समय ध्यान रखें कि रसोई हमेंशा दक्षिण-पूर्व के बीच में होना चाहिए

2. यह अग्निकोण की दिशा मानी गई है। कहा जाता है कि इस स्थान पर बनाई गई रसोई काफी शुभ होती है।

3. रसोई में मां अन्नपूर्णा की तस्वीर अवश्य होना चाहिए।

4. महिलाओं को सुबह बिना स्नान किए रसोई में कोई भी कार्य नहीं करना चाहिए। ऐसा करना अशुभ माना गया है।

5. स्त्रियों को स्नान करके मां अन्नपूर्णा को नमस्कार करके रसोई में कार्य करना चाहिए। इससे मां अन्नपूर्णा प्रसन्न रहती है और उनकी कृपा बनी रहती है।

6. रसोई में सुबह सुबह चाकू-छुरी जैसी चीजें नहीं देखनी चाहिए। ऐसी चीजें देखने से नकारात्मक ऊर्जा फैलती है।

7. हिंसात्मक चीजें देखने से रसोई में प्रतिकूल प्रभाव पडता है। वहीं घर में भी कलेश बढ जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *