Ajab Gazab

सोन नदी पर बनने वाला पहला पुल का निर्माण होगा शुरू, बिहार और झारखण्ड के इन जिलों को होगा फ़ायदा..

रोहतास जिले के नौहटा प्रखंड के सुदूरवर्ती गांव पडुका के निकट सोन नदी पर 1 अरब 96 करोड़ 12 लाख रुपए की लागत से पुल निर्माण किए जाने को लेकर पुल निर्माण निगम विभाग के आरा कार्यालय द्वारा संविदा की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। अब जल्द ही पुल निर्माण आरंभ होगा। पुल निर्माण हो जाने से 120 किलोमीटर की दूरी 20 किलोमीटर में बदल जाएगी।

झारखंड राज्य के गढ़वा, पलामू, लातेहार समेत कई जिलों में अनुमंडल क्षेत्र के नौहट्टा के गांवों की दूरी घट जाएगी। खास कर आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र होने के नाते दोनों राज्यों में बेटी-रोटी का संबंध है। केंद्र सरकार द्वारा राशि का आवंटन और कार्य की स्वीकृति भी मिल गई है। क्षेत्र की बहुप्रतीक्षित मांग पूरा होने का समय निकट आ गया है। इकरारनामा से 24 माह के अंदर में कार्य को पूरा कर लिया जाना है। पुल की देख-रेख एवं मरम्मती कार्य 10 वर्षो तक पुल निर्माण करने वाले कंपनी को ही करना है।

पुल निर्माण निगमं के उप मुख्य अभियंता सुनील कुमार कहते हैं कि संविदा की सारी प्रक्रियाएं पूरी कर ली गई है। इस वित्तीय वर्ष में कार्य प्रारंभ कर लिया जाना है। दो लेन का यह पुल झारखंड और बिहार को जोड़ने वाली सोन नदी पर बना पहला पुल होगा। विभाग का सतत प्रयास है कि समय पर निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाए।

पुल निर्माण से क्या है लाभ

इस पुल निर्माण से नौहटा एवं रोहतास प्रखंड के लोगों को झारखंड राज्य के गढ़वा, पलामू, लातेहार समेत कई जिलों में जाने पर दूरी 100 किलोमीटर कम हो जाएगी। साथ ही मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, मुंबई जाने में भी समय और ईंधन की बचत होगी।

इन जिलों में जाने के लिए लोगों को डेहरी औरंगाबाद होते हुए जाना पड़ता था, जिसकी दूरी 100 किलोमीटर अधिक हो जाती थी। किंतु पुल बन जाने पर यह दूरी महज 20 किलोमीटर हो जाएगी। इन्हे भी जरूर पढ़ें

Leave a Reply