google-site-verification=9tzj7dAxEdRM8qPmxg3SoIfyZzFeqmq7ZMcWnKmlPIA
Thursday, February 9, 2023
Health

शहद में मिलाकर खाएं ये चीज, हार्ट अटैक का खतरा होगा कम; मानसिक बीमारियां रहेंगी दूर

शहद को आयुर्वेद में एक औषधि का दर्जा हासिल है और इसका इस्तेमाल प्राचीन काल से होता चला आ रहा है. आइए जानते हैं कि शहद में ड्राई फ्रूट्स भिगोकर खाने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं.


प्राचीन काल से शहद का इस्तेमाल हो रहा है और इसके फायदों के बारे में आयुर्वेद में उल्लेख है. आपको बता दें कि शहद मधुमक्खियों द्वारा फूलों के रस से बनाया गया एक तरल पदार्थ है. शहद को आयुर्वेद में एक औषधि का दर्जा हासिल है. ऐसे में अगर आप ड्राई फ्रूट्स को शहद में भिगोकर खाते हैं तो आपको ज्यादा फायदे मिलेंगे और आप कई बीमारियों से दूर भी रहेंगे. आपको बता दें कि ड्राई फ्रूट्स हमें कई महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्रदान करता है. रोजाना ड्राई फ्रूट खाने वाले लोग हेल्दी रहते हैं और कई गंभीर बीमारियों के खतरे से दूर रहते हैं. आइए जानते हैं कि शहद में ड्राई फ्रूट्स भिगोकर खाने से क्या-क्या फायदे मिलते हैं.

हार्ट अटैक का खतरा कम

कुछ अध्ययनों के अनुसार शहद में ड्राई फ्रूट्स को भिगोकर खाने से दिल की सेहत में सुधार होता है. इन दोनों चीजों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स और अन्य पोषक तत्व मिलकर दिल को कई फायदे पहुंचा सकते हैं और हार्ट अटैक के खतरे को कई हद तक कम किया जा सकता है.

इम्यूनिटी बूस्टर

शरीर का इम्यून सिस्टम बूस्ट करने में शहद और ड्राई फ्रूट्स काफी मदद करते हैं. रोजाना शहद में भीगे ड्राई फ्रूट्स खाने से शरीर की इम्यूनिटी बूस्ट होती है, जिससे संक्रमण का खतरा काफी हद तक कम किया जा सकता है.

पाचन में सुधार

पाचन के लिए भी शहद और ड्राई फ्रूट्स फायदेमंद माने जाते हैं. इसके रोजाना इस्तेमाल से पाचन से जुड़ी समस्याओं को दूर किया जा सकता है.

दिमागी बीमारियां दूर

ड्राई फ्रूट्स को शहद में भिगोकर खाने से याददाश्त तेज होती है और दिमाग से जुड़ी कई समस्याएं जैसी डिप्रेशन, तनाव व चिंता का खतरा काफी हद तक कम किया जा सकता है.

ये ड्राई फ्रूट्स शहद के साथ खाएं

बादाम, काजू, अखरोट, किशमिश और नट्स का सेवन शहद के साथ किया जाए तो ज्यादा फायदे मिलते हैं. इन ड्राई फ्रूट्स को पहले 2-3 घंटे के लिए पानी में भिगोएं और फिर उन्हें पानी में निकालकर शहद में कम से कम दो से तीन घंटे भिगोकर रखें.

Sumeet Dhiman
the authorSumeet Dhiman

Leave a Reply