Ajab GazabIndia

EVM हैक करके जिता दूंगा चुनाव, मांगे ढाई करोड, दिल्ली तक मच गया हडकंप

EVM हैक करके जिता दूंगा चुनाव, मांगे ढाई करोड, दिल्ली तक मच गया हडकंप

मुंबई। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन यानी ईवीएम को हैक करने के लिए ढाई करोड़ रुपये की मांग करने वाले सेना के एक जवान को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यह मामला महाराष्ट्र के संभाजीनगर का है। शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे के नेता अंबादास दानवे से सेना के जवान ने ईवीएम हैकिंग के लिए यह मांग की थी। अंबादास दानवे ने इस मामले में पुलिस को शिकायत दी, जिसके बाद ऐक्शन लेते हुए सेना के जवान मारुति धाकने को अरेस्ट कर लिया गया। 42 साल का मारुति धाकने दावा कर रहा था कि वह एक चिप के जरिए ईवीएम को हैक कर देगा।

उसका दावा था कि इस चिप से किसी खास उम्मीदवार को अधिक वोट पाने में मदद मिल सकती है। अब पुलिस ने गिरफ्तार करके मारुति धाकने से पूछताछ की तो पता चला कि उसे ईवीएम के बारे में कोई जानकारी ही नहीं है। धाकने ने पुलिस को बताया कि वह कर्ज में डूबा था। इसे चुकाने के लिए उसने अंबादास दानवे से ऐसा दावा किया ताकि कुछ कमाई हो सके। अंबादास दानवे महाराष्ट्र विधान परिषद में नेता विपक्ष हैं। पुलिस ने बताया कि आरोपी ने अपना कर्ज चुकाने के लिए यह दावा किया। वह ईवीएम के बारे में कुछ नहीं जानता है।

पुलिस के अनुसार मंगलवार शाम करीब चार बजे आरोपी ने यहां एक बस स्टैंड के समीप एक होटल में शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता अंबादास के छोटे भाई राजेंद्र दानवे से मुलाकात की। अधिकारी ने बताया कि बातचीत के बाद 1.5 करोड़ रुपये में सौदा तय हुआ। अंबादास दानवे द्वारा उपलब्ध कराई गई सूचना के आधार पर सादे कपड़ों में पुलिस के एक दल को भेजा गया और आरोपी को राजेंद्र दानवे से एक लाख रुपये लेते वक्त रंगे हाथ पकड़ लिया गया।

पुलिस आयुक्त मनोज लोहिया ने पत्रकारों को बताया, ‘आरोपी पर काफी कर्ज है। उसने अपना कर्ज उतारने के लिए यह चाल चली। वह मशीन (ईवीएम) के बारे में कुछ नहीं जानता। हमने उसे गिरफ्तार कर लिया है और यहां क्रांति चौक पुलिस थाने में एक मामला दर्ज किया गया है।’ एक अन्य अधिकारी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 420 (धोखाधड़ी) और 511 (अपराध करने की कोशिश) के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार, आरोपी महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में पाथर्डी का रहने वाला है और वह जम्मू कश्मीर के उधमपुर में तैनात था।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply