google-site-verification=9tzj7dAxEdRM8qPmxg3SoIfyZzFeqmq7ZMcWnKmlPIA
Sunday, September 17, 2023
Ajab Gazab

PPF Scheme : टैक्स बचाकर करें पीपीएफ से कमाई, सरकारी योजना में लगाए पैसा. – Himachali Khabar

[ad_1]

PPF Scheme : केंद्र सरकार की पीपीएफ योजना को लेकर लोगों में काफी क्रेज देखने को मिल रहा है. यह सरकार की एक ऐसी योजना है, जिसमें निवेशकों को लाखों रुपए का फंड एक बार में मिल जाता है. आज हम आपको बताएंगे कि कैसे आपको पीपीएफ स्कीम में पूरे 42 लाख रुपये मिल सकते हैं. सबसे बड़ी बात इसमें सरकारी गारंटी के साथ आपका पैसा और उस पर मिलने वाला रिटर्न सुरक्षित होता है. नौकरीपेशा और कारोबारियों के लिए पब्लिक प्रोविडेंट फंड सबसे अच्छा विकल्प है.

Ads

लंबे समय में निवेश के लिए पीपीएफ अच्छा रिटर्न पाने का सबसे अच्छा विकल्प है. आप इसमें हर साल 1.5 लाख रुपये तक का निवेश कर सकते हैं. इसमें आपको चक्रवृद्धि ब्याज मिलता है. इसका पैसा शेयर मार्केट में नहीं लगता और आपके निवेश पर पहले ये तय ब्याज मिलता है.

पीपीएफ स्कीम

हम जिस स्कीम के बारे में बात कर रहे हैं, उसका नाम पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) है. केंद्र सरकार के जरिए ये स्कीम चलाई जा रही है. इस स्कीम में लोग हर साल कुछ अमाउंट इंवेस्ट कर सकते हैं. इंवेस्ट की गई अमाउंट पर लोगों को ब्याज हासिल होता है और साथ ही इंवेस्ट की गई अमाउंट पर हर साल टैक्स भी बचाया जा सकता है. इस स्कीम के तहत मिलने वाले ब्याद की समीक्षा हर तीन महीने में की जाती है. फिलहाल इस स्कीम के तहत 7.1 फीसदी का ब्याज दिया जा रहा है.

Ads

टैक्स बेनेफिट

पीपीएफ स्कीम में हर साल ज्यादा से ज्यादा 1.5 लाख रुपये का इंवेस्टमेंट किया जा सकता है. इसके साथ ही इस स्कीम का फायदा पुराने टैक्स रिजीम के तहत आईटीआर दाखिल करने पर सेक्शन 80C में मिलता है. अगर कोई शख्स पुराने टैक्स रिजीम के तहत आईटीआर दाखिल करता है तो पीपीएफ स्कीम के जरिए 1.5 लाख रुपये तक का टैक्स बेनेफिट 80C के तहत हासिल कर सकता है.

80C के तहत फायदा

वहीं पीपीएफ स्कीम की मैच्योरिटी 15 सालों की होती है. इस अकाउंट को चलाने वाले लोग हर वित्तीय वर्ष में पीपीएफ अकाउंट में मिनिमम 500 रुपये और मैक्सिमम 1.5 लाख रुपये का इंवेस्टमेंट कर सकते हैं. जितना इंवेस्टमेंट एक वित्तीय वर्ष में लोग कर पाएंगे, उतना ही टैक्स बेनेफिट हर साल लोग 80C के तहत भी हासिल कर पाएंगे.

Ads

 

हमसे जुड़ने के लिए फॉलो करें :

 

[ad_2]

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply