Ajab GazabIndia

उद्धव ठाकरे को चुभ गया मोदी का वह तंज: किसी भी कीमत पर में वापस नहीं जाऊंगा, PM ने मुझे नकली संतान कहा….


महाराष्ट्र प्रमुख में 13 सीटों के लिए अंतिम चरण के मतदान से पहले शिवसेना उद्धव ठाकरे ने खुकर बात की। उन्होंने बीजेपी के साथ किसी भी तरह के समझौते की संभावना से इनकार किया है। प्रधानमंत्री मोदी के ‘उद्धव ठाकरे मेरे दुश्मन नहीं हैं’ वाले बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि इस तरह के बयानों से मोदी के दिमाग में भ्रम के अलावा कुछ नहीं पता चलता। उन्होंने कहा, ‘मैं किसी ऐसे व्यक्ति के पास वापस नहीं जा सकता जो मुझे ‘नकली संतान’ या शिवसेना को ‘नकली शिवसेना’ कहता है।’ एकनाथ शिंदे की शिवसेना का जिक्र करते हुए उन्होंने दोहराया कि पार्टी छोड़ने वाले ’40 गद्दारों’ के लिए उनके दरवाजे ‘100% बंद’ हैं। ठाकरे ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में लौटती है तो वे शिंदे सरकार के तहत की गई अनियमितताओं की जांच करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि वे धारावी पुनर्विकास परियोजना की समीक्षा करेंगे, जिसके लिए उन्होंने कहा कि अडानी समूह के अनुकूल नियम बनाए जा रहे हैं। ठाकरे ने एमएमआरडीए की भी आलोचना की। उन्होंने कहा कि उसे केवल मुम्बई के बाहर ही परियोजनाएं चलाने की अनुमति दी जानी चाहिए, क्योंकि उसका काम शहर के संसाधनों पर भारी पड़ रहा है।

शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र भर में करीब दो दर्जन चुनावी रैलियों को संबोधित किया है। राज्य में लोकसभा चुनाव प्रचार अब आखिरी 13 सीटों पर केंद्रित है, जिनमें से अधिकांश मुंबई महानगर क्षेत्र की हैं, जहां 20 मई को पांचवें चरण में मतदान होना है। उद्धव ने कहा कि उनका ध्यान लोगों को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर है, न कि उनके पीछे की राजनीति पर।
प्रधानमंत्री मोदी ने एक साक्षात्कार में कहा कि ‘उद्धव ठाकरे मेरे दुश्मन नहीं हैं और अगर कोई संकट आता है तो मैं सबसे पहले उनकी मदद के लिए दौड़ूंगा।’ आप इस पर क्या सोचते हैं? क्या आपके एनडीए में वापस जाने की कोई संभावना है?

प्रधानमंत्री भ्रमित हैं। यह देश के लिए अच्छा नहीं है….ऐसा लगता है कि अब उनमें दिशा की कमी है। पिछले दो कार्यकालों में लोगों ने उनके झूठ सुने हैं। लेकिन अब लोग उन पर विश्वास नहीं करते। मैं किसी ऐसे व्यक्ति के पास वापस नहीं जा सकता जो मुझे ‘नकली संतान’ या शिवसेना को ‘नकली शिवसेना’ कहता है। यह देश का चुनाव है, इसलिए उन्हें भाजपा के 2014 और 2019 के घोषणापत्र और अपनी उपलब्धियों के बारे में बोलना चाहिए।
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का कहना है कि एमवीए सरकार के तहत देवेंद्र फडणवीस सहित 5 भाजपा नेताओं को गिरफ्तार करने की योजना थी।

इस चुनाव में यह कोई मुद्दा नहीं है। मैं तो यह कह रहा हूं कि महाराष्ट्र को उनके सामने लूटा जा रहा है। महाराष्ट्र की नौकरियां छीनी जा रही हैं। 40 गद्दारों को तो रोजी रोटी मिल गई, लेकिन महाराष्ट्र की रोजी रोटी छीनी जा रही है। और असंवैधानिक सीएम एक शब्द भी नहीं बोल रहे हैं।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply