Ajab GazabIndia

केंद्रीय कर्मचारियों पर होगी पैसों की बौछार, एक साथ आएंगी कईं खुशखबरी

7th pay commission latest news today: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए 31 मार्च की शाम यादगार होने वाली है. इस बार उनकी सैलरी में बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता (dearness allowance) जोड़कर आएगा. ये 50 फीसदी होगा. महंगाई भत्ते में जनवरी 2024 से 4 फीसदी का इजाफा किया गया है. इसे मार्च की सैलरी में क्रेडिट किया जाना है. इस बार 31 मार्च यानि रविवार को भी बैंक खुलेंगे. फाइनेंशियल ईयर क्लोजिंग के चलते बैंकों में कामकाज होगा. लेकिन, आम पब्लिक के लिए बैंक बंद है. इसलिए केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी को 30 या 31 मार्च को आएगी. इस बार जो सैलरी आने वाली है, उसमें कई तरह के अलाउंस जोड़कर ज्यादा पैसा आएगा.

क्यों खुलेंगे रविवार को बैंक?
31 मार्च को रविवार है, आमतौर पर बैंकों की छुट्टी होती है. लेकिन, इस बार चालू वित्त वर्ष की क्लोजिंग के चलते बैंकों को खोला जा रहा है. हालांकि, केंद्रीय कर्मचारियों की बढ़ी हुई सैलरी 30 मार्च को भी आ सकती है. जो भी वित्त वर्ष का आखिरी दिन केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशियां लेकर आ रहा है.

कितनी बढ़कर आएगी सैलरी?
केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (DA) में 4 फीसदी का इजाफा हुआ है. कर्मचारियों का भत्ता बढ़कर 50 फीसदी हो गया है. जनवरी 2024 से इसे लागू किया गया है. ऐसे में केंद्रीय कर्मचारियों को दो महीने- जनवरी और फरवरी का एरियर भी मिलेगा. मतलब मार्च की सैलरी में मार्च का बढ़ा हुआ भत्ते के अलावा 2 महीने के एरियर भी जुड़कर आएगा.

और क्या मिलेंगे कर्मचारियों को फायदे?
केंद्रीय कर्मचारियों का भत्ता 50% पहुंचने से हाउस रेंट अलाउंस (HRA) में भी इजाफा हुआ है. शहर की कैटेगरी के हिसाब से केंद्रीय कर्मचारियों को HRA 30 फीसदी, 20 फीसदी और 10 फीसदी मिलेगा. इसके अलावा दूसरे भत्तों में भी इजाफा हुआ है, जो मार्च की सैलरी में जोड़कर दिए जाएंगे. इनमें चाइल्डकेयर के स्पेशल अलाउंस, चाइल्ड एजुकेशन अलाउंस, हॉस्टल सब्सिडी, ट्रांसफर पर ट्रैवल अलाउंस, ड्रेस अलाउंस, ग्रेच्युटी सीलिंग, माइलेज अलाउंस शामिल हैं. हालांकि, इन सभी अलाउंस को क्लेम करना होता है.

अब शून्य से शुरू होगी कैलकुलेशन
साल 2024 में केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (DA) का गणित बदल रहा है. दरअसल, 1 जनवरी से लागू होने वाला महंगाई भत्ता 50 फीसदी पहुंच चुका है, तो अब नियम ये कहता है कि 50 फीसदी महंगाई भत्ता होने के बाद इसे बेसिक सैलरी में मर्ज करके शून्य से इसकी गणना शुरू होगी. लेकिन, इसकी कैलकुलेशन अगले महंगाई भत्ते से होगी. हालांकि, इसके नंबर्स आना शुरू हो चुके हैं.

कब शून्य होगा महंगाई भत्ता?
एक्सपर्ट्स की मानें तो जुलाई में नया महंगाई भत्ता कैलकुलेट होगा. क्योंकि, सरकार साल में दो बार ही महंगाई भत्ता बढ़ाती है. जनवरी के लिए मार्च में मंजूरी दे दी गई है. अब अगला रिविजन जुलाई 2024 से लागू होना है. ऐसे में महंगाई भत्ते को तभी मर्ज किया जाएगा और शून्य से इसकी कैलकुलेशन होगी. मतलब जनवरी से जून 2024 के AICPI इंडेक्स से तय होगा कि महंगाई भत्ता 3 फीसदी, 4 फीसदी या उससे ज्यादा होगा. ये स्थिति साफ होते ही कर्मचारियों की बेसिक सैलरी में 50 फीसदी महंगाई भत्ते को जोड़ दिया जाएगा.
himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply