Ajab GazabIndia

घर बाहर से बंद था, पड़ोसियों ने बुलाई पुलिस, दरवाजा तोड़ अंदर घुसने पर पांव तले खिसक गई जमीन

नई दिल्ली. शनिवार की दोपहर तकरीबन 2 बजे पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर थाना पुलिस को एक कॉल मिली कि श्याम जी नाम का शख्स लापता है. उसका घर कल से बाहर से बंद है. सूचना मिलते ही फौरन पुलिस की टीम मौके पर पहुंचती है, तो पूर्वी दिल्ली के शशि गार्डन की गली नंबर 6 का वह घर बाहर से बंद मिलता है. पूछताछ करने के बाद पुलिस दरवाजे को तोड़ती है और जैसे ही घर के अंदर दाखिल होती है तो उनके पैरों तले जमीन खिसत जाती है. घर के अंदर दो बच्चों की लाश पड़ी थी और उन दोनों बच्चों की लाशों के पास उनकी मां जख्मी हालत में पड़ी थी.

पुलिस ने जब चेक किया तो मां की सांसें चल रहीं थीं. फौरन ही उनको एम्स अस्पताल के लिए रेफर किया गया और पुलिस ने अपनी तफ्तीश शुरू की. डीसीपी ईस्ट दिल्ली अपूर्वा गुप्ता के मुताबिक 42 साल के श्याम जी नाम के शख्स के भाई का फोन पुलिस को पांडव नगर थाना पुलिस को आया था. जिसने बताया कि कल से वह जब घर जा रहा है, तो घर का दरवाजा बंद मिला और कोई फोन नहीं उठा रहा. इसके बाद पुलिस जब मौके पर पहुंची तो दो बच्चों की लाश मिली. करीब 15 साल का बेटा कार्तिक जमीन पर लहूलुहान हालत में मृत पड़ा था, जबकि उसके पास ही नौ साल की उसकी बहन आस्था भी मृत पड़ी थी. उनके पास ही करीबन 38 साल की उनकी मां सन्नो जख्मी हालत में पड़ी थी.

पिता लापता
श्याम जी पूर्वी दिल्ली में ही चाय की दुकान लगाता था और उसकी पत्नी सन्नू अपने दो बच्चों के साथ करीब 8 महीने पहले शशि गार्डन गली नंबर 6 के तीसरी मंजिल के फ्लैट में शिफ्ट हुई थी. उन्होंने यह मकान खरीदा था और अब इसी मकान में दोनों बच्चों की लाश मिली है. श्याम उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ का रहने वाला है और कल से ही रहस्यमय हालात में लापता है. पुलिस को शक है कि श्याम जी ने अपने दोनों बच्चों की हत्या कर पत्नी की जान लेने की कोशिश की और उसके बाद घर के बाहर से ताला लगाकर वह फरार हो गया. फिलहाल पुलिस श्याम जी की तलाश कर रही है. जिससे इस डबल मर्डर की हत्या का पता लग सके. साथ ही पुलिस कई एंगल पर तफ्तीश कर रही है, जिसमें आपसी रंजिश, एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर या फिर घरेलू कलह जैसे एंगल भी शामिल हैं.

दोनों बच्चों की मौत से पड़ोसी-रिश्तेदार सदमे में
दोनों बच्चों की मौत की खबर लगते ही गली में भीड़ इकट्ठी हो गई. तमाम रिश्तेदार और पास में ही श्याम जी के रहने वाले भाई भी मौके पर पहुंचे. गली में आंसुओं का सैलाब था. किसी को यकीन नहीं हो रहा था कि नौवीं क्लास में पढ़ने वाले कार्तिक और छठी क्लास में पढ़ने वाली आस्था की इतनी निर्माता से हत्या कर दी गई है. श्याम जी के रिश्तेदार विजय का कहना है कि कल से घर पर ताला लगा था, कोई जवाब नहीं दे रहा था तो आज पुलिस को बुलाया गया और अंदर दोनों बच्चों की लाश मिली है.

पुलिस कई एंगल पर काम कर रही
गली में मौजूद सभी की जुबान पर सिर्फ एक सवाल है कि आखिर इन दोनों बच्चों की हत्या किसने और क्यों की? क्या वाकई एक पिता ने अपने दोनों बच्चों की हत्या कर अपनी पत्नी की जान लेने की कोशिश की और फरार हो गया. या फिर इस हृदय विदारक घटना के पीछे जिम्मेदार कोई और ही है ,कातिल कोई और है. पुलिस ने दोनों बच्चो को लाशों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं. पड़ोसियों और रिश्तेदारों से पूछताछ की जा रही है और रहस्यमय हालात में गायब श्याम जी की तलाश के साथ ही पुलिस तमाम एंगल पर काम कर रही है. ये भी पढ़ें : पहले पुलिस का नहीं कर रहा था मन फिर स्कूटी की डिग्गी चेक की तो उड़े होश

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply