Ajab GazabDharamIndia

चाणक्य के अनुसार, जब भी करें ये 4 काम तब नहाना है बेहद जरूरी, वरना हो जाएंगे बर्बाद।

आप तो जानते ही होंगे कि दिन की शुरुआत में मतलब कि सुबह के नहाने को शास्त्र में सर्वोत्तम में बताया गया है। रोजाना नहाना बेहतर स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। नहाने से न केवल कई रोगों से बचाव होता है बल्कि आप तरोताजा महसूस करते हैं।

वैसे तो अधिकतर लोग सुबह नहाते हैं लेकिन कुछ ऐसे लोग भी हैं, जो अक्सर रात को सोने से पहले, ऑफिस से आने के बाद, या सुबह नाश्ते के बाद नहाना पसंद करते हैं। लेकिन कुछ ऐसे काम भी है, जिन्हें करने के बाद नहाने का विधान होता है। चाणक्य ने ऐसे 4 कामों के बारे में बताया है। तो आइए इस आर्टिकल में इन 4 कामों के बारे में विस्तार से जानते है।
इन 4 काम के बाद नहाना होता है जरुरी

1. जब भी शरीर पर आप तेल मालिश करते है तो जरुर चाहिए। मालिश के बाद नहाने को अनिवार्य माना गया है। पर ये विधान शरीरी पर मालिश होने के लिए है।

तेल मालिश के बाद शरीर के रोम छिद्र खुल जाता है। ऐसे में शरीर के अंदर का मेल बाहर आ जाता है। इसलिए शरीर पर तेल मालिश के बाद नहाना जरुरी होता है।

2. श्मशान के बाद भी नहाना आवश्यक माना गया है।

जब भी आप किसी भी मृत्यु शोक में शामिल हो और श्मशान जाएं तो वहां से लौटकर आप को नहाना जरुरी होता है।

3. बाल कटवाने के बाद भी नहाना जरुरी माना गया है। क्योंकि जब हम बाल कटवाते है तो शरीर पर बालों के छोटे टुकडे या एक्सट्रा बाल चिपके रह जाते है।

इसलिए लोग नहाते भी है। ये करना बेहद अनिवार्य है।

4. सेक्स के बाद भी नहाना का प्रावधान शास्त्रो में दिया गया है। क्योंकि सेक्स के अक्सर इन्फेक्शन होने का खतरा बना रहता है।

ऐसे में चाणक्य कहते है कि स्त्री से प्रसंग के बाद नहाना अनिवार्य है।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply