google-site-verification=9tzj7dAxEdRM8qPmxg3SoIfyZzFeqmq7ZMcWnKmlPIA
Thursday, February 9, 2023
Dharam

नमक को घर में रखें इस जगह पर, गरीबी होगी दूर, जल्द ही बन जाएंगे करोडपति

आप तो जानते ही होंगे कि नमक का उपयोग वैसे तो हम खाने का स्वाद बढाने के लिए करते हैं. बिना नमक के खाने की आप कल्पना भी नहीं कर सकते. लेकिन यह आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि नमक सिर्फ खाने के स्वाद को ही नहीं बढ़ाता बल्कि वास्तु शास्त्र में इसके कई गुण बताए गए हैं।

अगर नमक का उपयोग वास्तु शास्त्र के अनुसार किया जाए तो यह घर से नेगेटिव एनर्जी को तो दूर करता ही है साथ ही धन की कमी को भी दूर करता है। नमक में घर में सुख समृद्धि को बढ़ाने के भी गुण होते हैं। तो आइए नमक के इस चमत्कारिक गुण के बारे में विस्तार से जानते है।

इस बर्तन में कभी नहीं रखना चाहिए नमक

सबसे पहले यह देखें कि आप नमक किस बर्तन में रखते हैं। वास्तु के मुताबिक नमक को कभी भी धातु के बर्तन में नहीं रखना चाहिए। ऐसा करने से घर में नेगेटिव एनर्जी आती है। नमक को जब भी रखें कांच के बर्तन में ही रखें।

आपको करना ये है कि सबसे पहले एक कटोरी लेनी है और उसमें समुद्री नमक डालना है। फिर उस कटोरी को स्नानघर में रख देना है। बस ध्यान रहे कि कटोरी कांच की ही हो। अगर आप यह उपाय करते हैं तो घर से नेगेटिव एनर्जी दूर होगी और पॉजिटिव एनर्जी आएगी।

नमक से धन की कमी को ऐसे करें दूर

वास्तु के अनुसार नमक का उपयोग कर भी दरिद्रता से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके लिए आपको बस आसान सा उपाय करना है. सबसे पहले एक कांच की कटोरी लें। उसमें दो चम्मच नमक और पांच लौंग डालें।

ऐसा करने के बाद उस कटोरी को घर के किसी भी कोने में रख दें। लेकिन यह ध्यान रखना है कि जिस भी कोने में रखें उसपर किसी और व्यक्ति की नजर न जाए। ऐसा करके आप घर के आर्थिक तंगी को दूर कर सकते हैं।

नमक स्वास्थ्य की समस्या को भी करता है दूर

अगर कोई व्यक्ति बीमार है तो आपको एक कांच की बोतल में नमक भरना है और उसे बीमार व्यक्ति के बिस्तर के बगल में रख देना है। ऐसा करने से वास्तु शास्त्र के अनुसार बीमार व्यक्ति की सेहत में सुधार आ सकता है।

इसके साथ ही नमक व्यक्ति के तनाव को भी दूर कर सकता है। जो व्यक्ति तनाव से गुजर रहा है उसको बस ये करना है कि स्नान करते वक्त नहाने के पानी में थोड़ा नमक डालकर स्नान करे। यह उपाय करने से तनाव दूर होगा।

Sumeet Dhiman
the authorSumeet Dhiman

Leave a Reply