Ajab GazabHealthIndia

फेफड़े में एक मिनट भी नहीं ठहर पाएगी गंदगी, न्यूट्रिशनिस्ट ने बताया लंग्स को बूस्ट करने वाले 7 फूड्स


मौसम ठंड का हो या गर्मी का संक्रमण और प्रदूषण से व्यक्ति हर समय घिरा हुआ है. ऐसे में सबसे ज्यादा खतरा श्वसन तंत्र पर होता है क्योंकि सांस के माध्यम से ही टॉक्सिन शरीर के अंदर पहुंचते हैं. जिसके कारण सबसे पहले और तेजी से कचरा फेफड़ों में भरता है. इसके कारण आज के समय में अस्थमा, लंग्स कैंसर, टीबी के मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है.

ऐसे में न्यूट्रिशनिस्ट लवनीत बत्रा के बताए हुए फूड्स का सेवन बहुत जरूरी बन गया है. एक्सपर्ट ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में लंग्स फंक्शन को बूस्ट करने वाले 7 फूड्स की जानकारी करते हुए लिखा है कि धूम्रपान से बचने, प्रदूषित क्षेत्रों से दूर रहने और नियमित रूप से व्यायाम करने के अलावा सही भोजन खाना भी स्वस्थ फेफड़ों के कार्य को बढ़ावा देने का एक शानदार तरीका है.

मिर्च
मिर्च विटामिन सी के सबसे समृद्ध स्रोतों में से एक है, एक पानी में घुलनशील पोषक तत्व जो आपके शरीर में एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है, जो फेफड़ों के बेहतर स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है और सूजन को कम करता है.

हल्दी
हल्दी का उपयोग अक्सर अपने शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट और सूजन-रोधी प्रभावों के कारण समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है. हल्दी में मुख्य सक्रिय घटक करक्यूमिन, फेफड़ों की कार्यक्षमता को बढ़ाता है.

अदरक
अदरक फेफड़ों की क्षति को कम करने का काम करता है और हाइपरक्सिया और सूजन के कारण फेफड़ों को डैमेज से बचाता है.

जौ
जौ एक पौष्टिक साबुत अनाज है जिसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है. साबुत अनाज से भरपूर उच्च फाइबर आहार का फेफड़ों की कार्यप्रणाली पर सुरक्षात्मक प्रभाव देखा गया है.

पत्तेदार सब्जियां
बोक चॉय, पालक और केल जैसी पत्तेदार सब्जियां कैरोटीनॉयड, आयरन, पोटेशियम, कैल्शियम और विटामिन का एक बेहतरीन स्रोत है. इन पोषक तत्वों में सूजन-रोधी और एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं, जो फेफड़ों की सूजन को कम करने और समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं.

अखरोट
अखरोट में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड एक सूजन रोधी के रूप में कार्य करता है, संभावित रूप से फेफड़ों की सूजन को कम करता है और सांस लेने की आपकी क्षमता में सुधार करता है.

लहसुन
लहसुन सूजन-रोधी यौगिकों का एक बड़ा स्रोत है जो आपके फेफड़ों को समस्याओं से लड़ने में मदद कर सकता है. इसे खाने के साथ पकाकर खाने के अलावा रोज सुबह काली पेट 1-2 कली कच्चा खाना बहुत फायदेमंद माना जाता है.

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply