Ajab GazabIndia

बिटिया रोहिणी के लिए लालू ने कुछ इस अंदाज में मांगा वोट, ‘लागल लागल झुलनिया में धक्का बलम कलकत्ता चलल…


छपरा: बिहार के सारण लोकसभा सीट से राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) से प्रत्याशी रोहिणी आचार्य ने सोमवार को अपना नॉमिनेशन किया। इस दौरान आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और उनकी माता पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी मौजूद रहीं। नामांकन के बाद एक जनसभा का आयोजन किया गया, जिसमें तेजस्वी यादव रोहिणी आचार्य के अलावा आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने सारण की जनता से रोहिणी आचार्य के लिए वोट मांगा। हालांकि लालू प्रसाद यादव बहुत ज्यादा नहीं बोले, मगर उन्होंने बमुश्किल 5 मिनट के भाषण में अपनी बात जनता तक पहुंचाने की कोशिश की। सारण में इस वक्त काफी गर्मी और लू चल रही है। बावजूद इसके उनकी सभा में बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया।

लालू प्रसाद यादव ने मंच पर आते ही सबसे पहले सारण की जनता का हाल-चाल पूछा। उन्होंने कहा कि आप लोग इतने लू और गर्मी में इकट्ठा हुए हैं इसलिए मैं आपको धन्यवाद देता हूं। इसके बाद उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी बाबा भीमराव अंबेडकर के संविधान को खत्म करना चाहती है। उन्होंने मंच से सभी लोगों को यह समझाने का प्रयास किया कि इस बार बीजेपी की सरकार बनने के बाद बाबा भीमराव अंबेडकर का संविधान खत्म कर दिया जाएगा।

संविधान बचाने के लिए हमें इकट्ठा होना है: लालू

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने कहा कि हम किसी भी कीमत पर संविधान नहीं बदलने देंगे। बाबा भीमराव अंबेडकर का जो संविधान लिखा है। बीजेपी उसे बदलने की पूरी कोशिश कर रही है। इसलिए हम लोगों को इकट्ठे रहना है। लालू प्रसाद यादव ने अपनी बेटी रोहिणी आचार्य के पक्ष में लोगों से वोट करने की अपील करते हुए कहा कि रोहिणी हमारी बेटी है। आप लोगों के बीच लगातार काम कर रही है। उन्होंने कहा कि आप लोगों को भी हिम्मत दिखाना है और देश को बचाना है।

पिछड़े वर्गों का आरक्षण छीनना चाहती है बीजेपी: लालू यादव

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव सोमवार को पहली बार रोहिणी आचार्य की जनसभा में नजर आए। यह उनकी पहली रैली थी, जिसमें उन्होंने लोगों को संबोधित किया। इस बीच उन्होंने रोहिणी आचार्य के लिए जहां वोट मांगा। वहीं वह जनता को यह भी बताते नजर आए कि बीजेपी के सत्ता में आने के बाद पिछड़े वर्ग के लोगों का आरक्षण छीन लिया जाएगा। गौर करने वाली बात यह है कि इस लोकसभा चुनाव के दौरान इन दो बातों पर तेजस्वी और पूरा विपक्ष लोगों को यह बताने की कोशिश कर रहा है कि बीजेपी संविधान बदलने और पिछड़ों के आरक्षण को खत्म करने का प्रयास कर रही है।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव पर अब उम्र का असर दिखाई देने लगा है। इसमें कोई शक नहीं कि बिहार की चिलचिलाती गर्मी में उन्होंने रोहिणी आचार्य के लिए प्रचार किया। लोगों से वोट मांगे। लेकिन लालू प्रसाद यादव अपने उसे पुराने अंदाज में वापस आने की कोशिश करते-करते ही बस रह गए। उन्होंने करीब अपने 5 मिनट के भाषण में केवल दो बातों पर फोकस किया। एक बीजेपी संविधान बदल देना चाहती है। दूसरा बीजेपी पिछड़ों के आरक्षण को खत्म करना चाहती है। अपना भाषण खत्म करते-करते उन्होंने सारण की जनता से वोट करने की अपील की और ‘लागल लागल झुलनिया में धक्का बलम कलकत्ता चलल’। कहकर अपनी बात को खत्म किया।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply